short-format leagues will find it harder to get sanctioned in future: ICC
rohit sharma ipl

इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल अलग-अलग देशों में खेली जाने वाली क्रिकेट प्रीमियर लीग पर लगाम लगाने का विचार कर रही है। आईसीसी का मानना है कि क्रिकेट के इन छोटे टूर्नामेंट की वजह से टेस्ट और वनडे मैचों का भविष्य खतरे में पड़ सकता है।

विश्व क्रिकेट संचालन संस्था (आईसीसी) विभिन्न ट्वेटी20 और टी10 लीग पर लगाम कसने की मुहिम के तहत अगले हफ्ते होने वाली बैठक में इसके लिए भविष्य के नियम और स्वीकृति के बारे में चर्चा करेगी। लुभावनी इंडियन प्रीमियर लीग की शुरूआत से ही कई आईसीसी सदस्य देशों ने अपनी लीग लांच कर दी जिसे पांच दिवसीय क्रिकेट और अंतरराष्टीय क्रिकेट पर खतरे के रूप में देखा जा रहा है।

हाल में ताजा प्रारूप में आईसीसी मान्यता प्राप्त टी10 (10 ओवर प्रति टीम) लीग रही जो पिछले साल शारजाह में खेली गयी थी। आईसीसी के क्रिकेट महाप्रबंधक ज्योफ एलार्डिस ने कहा कि इस मुद्दे पर 20 अक्टूबर को सिंगापुर में होने वाली बोर्ड की बैठक में चर्चा की जायेगी।

उन्होंने मीडिया से कहा, ‘‘अगले हफ्ते हमारी बैठक में टूर्नामेंट के नियमों और स्वीकृति के संबंध में चर्चा की जायेगी। इसके अलावा लीग के लिए खिलाड़ियों को रिलीज करने पर भी चर्चा होगी।’’

गौरतलब है वेस्टइंडीज के विस्फोटक बल्लेबाज क्रिस गेल ने अफगानिस्तान प्रीमियर लीग में खेलने की वजह से भारत दौरे से नाम वापस लिया है। भारत और वेस्टइंडीज के बीच खेली जाने वाली वनडे सीरीज के लिए क्रिस गेल का चयन नहीं हो पाया।