Shreyas Iyer: Batsman will need some net session to strengthen muscle memory
श्रेयस अय्यर (AFP)

टीम इंडिया के युवा मध्यक्रम बल्लेबाज श्रेयस अय्यर फिर से क्रिकेट के मैदान पर उतरने के लिए उत्साहित हैं। हालांकि मुंबई के इस क्रिकेटर का कहना है कि कोरोना वायरस लॉकडाउन की वजह से लगे ब्रेक के बाद क्रिकेट को दोबारा शुरू करने से पहले बल्लेबाजों को पर्याप्त अभ्यास की जरूरत पड़ेगी।

आईएनएस से बातचीत में अय्यर ने कहा, “एक बल्लेबाज के तौर पर टाइमिंग वापस हासिल करने और अपनी मसल मेमोरी को मजबूत करने के लिए आपको कुछ नेट सेशन की जरूरत तो होगी। आप काफी दिनों बाद बल्ला पकड़ेंगे और आपके सामने गेंदबाज 140 प्रति घंटे की रफ्तार से गेंदबाजी करेंगे, इसलिए उस जोन में आना आसान नहीं होगा। इसके लिए कुछ नेट सेशन चाहिए होंगे जिससे दिमाग भी पूरी तरह से संभल जाए।”

उन्होंने कहा, “ये आसान नहीं रहने वाला है, लेकिन हम पेशेवर हैं और हम इस स्तर पर पहुंचने के लिए काफी सालों से खेल रहे हैं, इसलिए हमें ज्यादा समय नहीं लगेगा। हमारे लिए इससे बाहर आना और क्रिकेट शुरू करना एक अच्छी चुनौती होगी।”

‘मैच की स्थिति को समझना महेंद्र सिंह धोनी की सबसे बड़ी ताकत’

क्रिकेट पर ब्रेक लगाए जाने से पहले शानदार फॉर्म में चल रहे अय्यर ने कहा, “मैं क्रिकेट खेलने को लेकर बेसब्र हूं क्योंकि मैं इसी का इंतजार कर रहा हूं। आपको पता है कि क्रिकेट भारत में धर्म है और अगर हम क्रिकेट खेलते हैं जिसे लोग टीवी पर देख सकते हैं, तो ये सकरात्मक चीज होगी और चीजें सामान्यता की ओर बढ़ने लगेंगी। लोगों का भी मनोरंजन होगा।”

टेस्ट टीम में जगह पाना चाहते हैं श्रेयस

अय्यर ने टेस्ट टीम में जगह बनाने को लेकर भी बात की। दाएं हाथ के इस बल्लेबाज ने कहा, “हां, मैं हमेशा से टेस्ट क्रिकेट खेलना चाहता हूं। टेस्ट टीम में आने के लिए मेरा रणजी ट्रॉफी का औसत काफी अच्छा है। मैं लगातार अच्छा कर रहा हूं। इसालए मैं टेस्ट टीम में आने और वहां अपनी जगह पक्की करने को तैयार हूं।”

गेंद पर लार के इस्तेमाल पर पाबंदी लगाए जाने पर बोले अय्यर 

कोविड-19 महामारी की वजह से कई पूर्व क्रिकेटर गेंद को चमकाने के लिए सलाइवा (लार) का उपयोग बंद करने और इस पर बैन लगाए जाने की मांग कर रहे हैं।

इस पर अय्यर ने कहा, “अगर हम शुरू कर रहे हैं तो किसी तरह की पाबंदियां नहीं होनी चाहिए। एक बल्लेबाज के तौर पर मैं चाहता हूं कि गेंद नई हो और गेंदबाज के तौर पर आप चाहते हो कि गेंद स्विंग करे। इसलिए ये दोनों के लिए समान तरीके से अहम है। ये नियम बनाने वाली संस्था का फैसला है जिसे हमें मानना होगा।”

पैट कमिंस की बात से सहमत हैं अय्यर

ऑस्ट्रेलिया के तेज गेंदबाज पैट कमिंस ने अपनी आईपीएल टीम कोलकाता नाइट राइडर्स के साथ बात करते हुए कहा था कि अगर सलाइवा और पसीना लगाने से कोरोनावायरस के फैलने का डर है तो क्रिकेट शुरू करने वाली पहली चीज नहीं होनी चाहिए। अय्यर ने भी कमिंस की बात में हामी भरी है।

उन्होंने कहा, “निश्चित तौर पर, वह एक गेंदबाज के तौर पर बोल रहे हैं, एक गेंदबाज के नजरिए से। गेंद को स्विंग कराना काफी जरूरी है। गेंद को बनाए रखना काफी जरूरी है और अगर ऐसा नहीं हो पाता है तो खेलने का कोई मतलब नहीं है।”