Shreyas Iyer: Even top footballers are not picked for World Cup
Shreyas-Iye © Getty Images (File Photo)

राष्ट्रीय टीम में नहीं चुने जाने के दर्द से निपटने के लिए फुटबॉल से प्रेरणा लेने वाले क्रिकेटर श्रेयस अय्यर ने कहा है कि अपने क्लबों के लिए शानदार खेल दिखाने के बाद भी कई खिलाड़ी फीफा विश्व कप के लिए अपने देश की टीम में जगह नहीं बना पाते हैं।

उन्होंने शनिवार को देवधर ट्रॉफी के फाइनल में ताबड़तोड़ शतकीय पारी खेलने के बाद कहा, ‘ ऐसा सिर्फ क्रिकेट में नहीं होता है, बल्कि फुटबॉल और दूसरे खेलों में भी ऐसा ही होता है। आपने देखा होगा कि क्लबों के लिए शानदार खेलने वाले कई खिलाड़ियों को राष्ट्रीय टीम में जगह नहीं मिलती है। इन छोटी-छोटी बातों से मुझे वह करने की प्रेरणा मिलती है जो मैं अभी कर रहा हूं।’

भारत बी की कप्तानी करते हुए फाइनल में अय्यर ने 148 रनों की पारी खेली। उन्हें राष्ट्रीय टीम के लिए छह एकदिवसीय और छह टी20 अंतरराष्ट्रीय मैचों में खेलने का मौका भी मिला है लेकिन टीम के नियमित सदस्य नहीं बन पाए।

अय्यर ने कहा, ‘ मुझे इस बात का अहसास है कि ऐसा केवल मेरे नहीं बल्कि कई अन्य खिलाड़ियों के साथ भी हो रहा है। मैं दूसरे खिलाड़ियों की निराशा को महसूस कर सकता हूं। मुझे लगता है कि यह हर खिलाड़ी के जीवन का हिस्सा है। उन्हें इससे निपटना होगा।’

अय्यर वेस्टइंडीज के खिलाफ घरेलू और ऑस्ट्रेलिया दौरे के लिए चुनी गई टी -20 टीम का हिस्सा हैं लेकिन कई बार बड़ा स्कोर बनाने के बाद भी उन्हें नजरअंदाज कर दिया गया था। उन्होंने कहा कि पहले वह भी इन बातों से प्रभावित होते थे लेकिन अब इस पर ध्यान नहीं देते हैं।

उन्होंने कहा, ‘ मैं लगातार मैच खेल रहा हूं। इसलिए एक बार में एक मैच के बारे में सोचता हूं क्योंकि चयन मेरे हाथ में नहीं है। मेरा काम रन बनाना है और अब मैं सिर्फ इसी बात पर ध्यान देता हूं।’

(इनपुट-एजेंसी)