Shubman Gill couldn’t play international cricket for next two month due to knee fracture
Shubman Gill @ Twitter/ RCB

भारत के सलामी बल्लेबाज शुबमन गिल (Shubman Gill) को शिन (घुटने के नीचे पैर का अगला हिस्सा) की गंभीर चोट लगी है जिसके कारण वह कम से कम दो महीने तक क्रिकेट से दूर हो सकते हैं। भारतीय क्रिकेट बोर्ड (BCCI) के सूत्रों ने गुरुवार को पीटीआई को यह जानकारी दी।

यह तय है कि गिल इंग्लैंड के खिलाफ नॉटिंघम में चार अगस्त से शुरू हो रही पांच मैचों की टेस्ट श्रृंखला के शुरुआती मैचों में हिस्सा नहीं ले पाएंगे। सूत्र ने नाम जाहिर नहीं करने की शर्त पर बताया, ‘‘शुबमन को शिन स्ट्रेस फ्रेक्चर है, जिसके कारण वह कम से कम दो हफ्ते तक बाहर रहेंगे। इसके कारण वह अगस्त में इंग्लैंड के खिलाफ पहले तीन टेस्ट में हिस्सा नहीं ले पाएंगे।’’

उन्होंने कहा, ‘‘रिहैबिलिटेशन पूरा करने के बाद सितंबर में होने वाले अंतिम दो टेस्ट में फिट होने के लिए भी अधिक समय नहीं है।’’ समझा जा रहा है कि न्यूजीलैंड के खिलाफ हाल में साउथम्पटन में संपन्न विश्व टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल के दौरान यह चोट बढ़ गई। भारत ने यह मुकाबला आठ विकेट से गंवाया।

भारत के एक पूर्व तेज गेंदबाज ने पीटीआई से कहा, ‘‘शिन का स्ट्रेस फ्रेक्चर काफी गंभीर नहीं होता लेकिन इसके लिए काफी आराम और रिहैबिलिटेशन की जरूरत होती है।’’

उन्होंने कहा, ‘‘अगर शिन का फ्रेक्चर होता तो ठीक होने में तीन महीने से अधिक का समय लग सकता था लेकिन शिन स्ट्रेस फ्रेक्चर की चोट से उबरने में सामान्य तौर पर आठ से 10 हफ्ते का समय लगता है। ’’

ब्रैड हॉग की WTC-XI में विराट का नहीं बनता स्‍थान, रोहित-रिषभ को मौका, इस टीम के सर्वाधिक खिलाड़ी

गेंदबाज ने कहा, ‘‘अगर गिल के विकल्प, वह मयंक (अग्रवाल) हो या लोकेश राहुल, अच्छा प्रदर्शन करते हैं तो शायद उसे बाहर बैठना पड़ सकता है और मेरा मानना है कि टीम प्रबंधन भी संभवत: पांचवें टेस्ट के लिए उसके फिट होने को लेकर कोई जल्दबाजी नहीं दिखाना चाहता।’’

WTC Final: रन चेज की टेंशन से बाथरूम में छुप गया था गेंदबाज, रेडियो शो में बताई मनोस्थिति

बंगाल के अभिमन्यु ईश्वरन स्टैंडबाई सलामी बल्लेबाजों में से एक हैं। समझा जा रहा है कि फिजियो नितिन पटेल और स्ट्रेंथ एवं अनुकुलन कोच सोहन देसाई इंग्लैंड में गिल की प्रगति पर नजर रख रहे हैं।

हालांकि अभी यह स्पष्ट नहीं है कि दौरे से आधिकारिक रूप से बाहर होने के बाद वह वहीं रुकेंगे या राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी में रिहैबिलिटेशन के लिए स्वदेश लौटेंगे। भारतीय टीम ने अभी ब्रेक लिया है और इंग्लैंड के खिलाफ श्रृंखला के लिए जुलाई के मध्य में एकत्रित होगी।