पूर्व दिग्गज सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) ने कहा कि शुभमन गिल (Shubman Gill) के पास भारतीय टेस्ट टीम में किसी भी क्रम पर बल्लेबाजी की तकनीक और तेवर हैं लेकिन उसे अच्छी शुरूआत को बड़ी पारियों में बदलना होगा। न्यूजीलैंड के खिलाफ कानपुर टेस्ट में 52 रन बनाने वाले गिल मुंबई टेस्ट में एजाज पटेल की गेंद पर आउट होकर अर्धशतक बनाने से चूक गए।

तेंदुलकर ने पीटीआई से बातचीत में कहा, “जहां तक तकनीक की बात है तो अलग अलग पिच पर अलग अलग तरह की चुनौतियां होती है। मेरा मानना है कि शुभमन को फायदा है कि उसने ब्रिसबेन में 91 रन की पारी खेली है जहां हमने टेस्ट जीता था। उसके पास कठोर और उछाल भरी पिचों पर खेलने का अनुभव है। तकनीक को लेकर कोई मसला नहीं है। उसने अच्छी शुरूआत की है लेकिन अब इसे बड़ी पारियों में बदलने का समय आ गया है।’’

तेंदुलकर ने कहा कि गिल को शतक को लेकर बहुत दबाव लेने की जरूरत नहीं है क्योंकि उसके अंदर रनों की भूख है। उन्होंने कहा, ‘‘टीम में आने के बाद ये बड़े स्कोर बनाने की भूख की बात होती है जो उसके अंदर है। उसे बस अच्छी शुरूआत को बड़ी पारियों में बदलना है और इसके लिए एकाग्रता नहीं खोनी है। कानपुर और मुंबई दोनों टेस्ट में वो अच्छी गेंद पर आउट हुआ। वो सीखने की प्रक्रिया में है और सीख रहा है।’’

उन्होंने डेब्यू टेस्ट में शतक जमाने वाले श्रेयस अय्यर (Shreyas Iyer) की तारीफ करते हुए कहा, ‘‘उसने मौके का पूरा फायदा उठाया। एक समय तक स्कोर अधिक नहीं था जिसके बाद उसने यादगार पारी खेली और भारत को जीत के लगभग करीब पहुंचा दिया। दोनों पारियां अहम थी। टेस्ट खेलने को लेकर बेचैनी होगी लेकिन वो काफी समय से टी20 क्रिकेट खेल रहा है जिससे दबाव कम हो गया होगा और वो अपना स्वाभाविक खेल दिखा सका।’’