विराट कोहली ने 2012 में पाकिस्‍तान के खिलाफ खेले इस मैच को बताया करियर का टर्निंग प्‍वाइंट

विराट कोहली ने 2012 में पाकिस्‍तान के खिलाफ खेले इस मैच को बताया करियर का टर्निंग प्‍वाइंट

विराट कोहली कप्‍तानी की भूमिका के साथ-साथ एक बल्‍लेबाज के तौर पर भी सर्वश्रेष्‍ठ हैं।

Updated: May 31, 2020 8:29 AM IST | Edited By: CricketCountry Staff
विराट कोहली को भारत के सबसे सफलतम कप्‍तानों की सूची में जगह दी जाती है। वो कप्‍तानी की भूमिका के साथ-साथ एक बल्‍लेबाज के तौर पर भी सर्वश्रेष्‍ठ हैं। महेंद्र सिंह धोनी के सीमित ओवरों के क्रिकेट से संन्‍यास के बाद टेस्‍ट क्रिकेट को नई ऊंचाईयों तक पहुंचाने का श्रेय भी विराट कोहली को ही जाता है। विराट स्‍वयं 2012 एशिया कप में पाकिस्तान के खिलाफ खेली गई 183 रनों की पारी को करियर का टर्निंग प्‍वाइंट मानते हैं।

उक्‍त मैच में पाकिस्तान ने छह विकेट के नुकसान पर 329 रन बनाए थे। भारत ने 47.5 ओवरों में इस लक्ष्य को हासिल कर लिया था। कोहली ने माना कि उनकी यह पारी उनके लिए गेम चेंजर साबित हुई।

सौरव गांगुली को यकीन- कोविड-19 वैक्सीन आने के बाद ठीक हो जाएंगे हालात

कोहली ने रविचंद्रन अश्विन के साथ इंस्टाग्राम पर बात करते हुए कहा, "उनकी गेंदबाजी आक्रामक व काफी दमदार थी। उस समय उनकी गेंदबाजी काफी चुनौतीपूर्ण थी, क्योंकि उसमें विविधता थी।"

भारतीय कप्तान ने कहा, "उनके पास शाहिद अफरीदी, सईद अजमल, उमर गुल, एजाज चीमा और मोहम्मद हफीज भी थे। पहले 20-25 ओवर स्थितियां उनके पक्ष में थीं, लेकिन मुझे याद है कि मैं पाजी (सचिन तेंदुलकर) के साथ बल्लेबाजी करने से खुश था। वह उनकी वनडे में आखिरी पारी साबित हुई। उन्होंने 50 रन बनाए और हमने 100 रनों से ज्यादा की साझेदारी की। यह मेरे लिए यादगार पल रहा।"

ऐतिहासिक जीत हासिल करने की प्रेरणा लेकर ऑस्ट्रेलिया गई थी टीम इंडिया : इशांत शर्मा

कोहली ने कहा कि इस पारी ने उन्हें विश्वास दिलाया कि वह किसी भी स्तर के गेंदबाजी आक्रमण के सामने बल्लेबाजी कर सकते हैं।

उन्होंने कहा, "यह अपने आप हुआ, क्योंकि मैं लगातार अपने आप को प्रेरित कर रहा था कि मैं इस तरह की स्थिति में खेलूं। मेरे लिए वो पारी गेम-चेंजर साबित हुई।"

दाएं हाथ के इस बल्लेबाज ने कहा, "मुझे याद है कि वह रविवार का दिन था। भारत और पाकिस्तान का मैच पूरा देश देख रहा था और हर कोई ध्यान दे रहा था।"

कोहली ने कहा, "मुझे याद है कि यह काफी मुश्किल था। रोहित शर्मा ने शानदार पारी खेली थी और अंत में महेंद्र सिंह धोनी तथा सुरेश रैना ने तीन ओवर पहले मैच खत्म कर दिया था।"

कोहली ने सचिन के साथ दूसरे विकेट के लिए 133 रनों की साझेदारी की और रोहित के साथ 172 रनों की साझेदारी की। रोहित ने उस मैच में 83 गेंदों पर 68 रन बनाए थे।
Advertisement