Smriti Mandhana believes our domestic circuit needs to step up to improve T20 cricket
Smriti Mandhana (File Photo) @ PTI

इंग्‍लैंड के खिलाफ पहले दो मुकाबले हार के साथ स्‍मृति मंधाना की कप्‍तानी वाली भारतीय महिला टीम ने टी20 सीरीज 0-2 से गंवा दी है। इससे पहले न्‍यूजीलैंड के खिलाफ भी महिला टीम को टी20 फॉर्मेट में 0-3 से हार का सामना करना पड़ा था। स्‍मृति मंधाना का मानना है कि घरेलू क्रिकेट में सुधार किए बिना टी20 फार्मेट में टीम के प्रदर्शन में सुधार कर पाना मुश्किल है।

पढ़ें:- महिला टी20: इंग्‍लैंड ने भारत को 5 विकेट से हरा जीती सीरीज

स्‍मृति ने कहा, “अगर हम अपने घरेलू ढांचे को देखें तो पाएंगे कि बल्‍लेबाजों को वहां के मुकाबले अंतरराष्‍ट्रीय क्रिकेट में काफी अलग माहौल में गेंदबाजी का सामना करना होता है। घरेलू क्रिकेट और अंतरराष्‍ट्रीय क्रिकेट के बीच काफी बड़ा अंतर है। इस अंतर को कम किए जाने की जरूरत है।”

स्‍मृति ने कहा, “हमें अपने घरेलू क्रिकेट में सुधरा करना होगा। हमारे घरेलू क्रिकेट में थोड़ा बहुत ही निडर होकर क्रिकेट देखा जाता है। जब आप निचले स्‍तर पर निडर होकर क्रिकेट खेल पाते हैं तभी आप ऐसा ही प्रदर्शन अंतरराष्‍ट्रीय क्रिकेट में भी कर पाते हैं।”

पढें:- BCCI के सेंट्रल कॉन्ट्रैक्ट की घोषणा, शिखर धवन ए+ ग्रेड से बाहर

स्‍मृति ने कहा, “अगर हम अपने घरेलू ढांचे को देखें तो टी20 क्रिकेट में आमतौर पर हम 110-120 रन ही बनाते हैं। मुझे लगता है कि हमें एक बार फिर निचले स्‍तर पर जाने की जरूरत है। हमें घरेलू क्रिकेट में सुधार कर 140 से 150 रन बनाने होंगे। अगर हम ऐसा कर पाते हैं तो सभी बल्‍लेबाज इसी माइंडसेट के साथ खेलने उतरेंगे और निडर होकर बल्‍लेबाजी कर पाएंगे। निडर होकर खेलने और लापरवाही से खेलने में बेहद पतली रेखा होती है।”