Smriti Mandhana: There is no time for experiments; Need to maintain this batting order
Stand-in skipper Smriti Mandhana (IANS)

हरमनप्रीत कौर की गैर मौजूदगी में भारतीय टीम की कप्तानी संभाल रही स्मृति मंधाना का मानना है कि खिलाड़ियों को खुद को साबित करने के लिए पर्याप्त समय दिया जाना चाहिए। मंधाना का मानना है कि टीम कॉम्बिनेशन के साथ प्रयोग करने के लिए ये उचित समय नहीं है।

भारत ने इंग्लैंड के खिलाफ पहले टी20 अंतरराष्ट्रीय मैच में हरलीन देओल को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में डेब्यू का मौका दिया। गुवाहाटी में खेले गए इस मैच में भारतीय बल्लेबाजी क्रम पूरी तरह फ्लॉप रहा और भारत ने ये मैच 41 रन से गंवाया।

ये भी पढ़ें: युवाओं को मौके देने से ज्‍यादा टी20 सीरीज जीतना लक्ष्‍य

मंधाना ने मैच के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, ‘‘वे कितने मैच खेलते हैं अगर आप इस पर गौर करो तो इनकी संख्या छह से आठ तक है। मुझे नहीं लगता कि ये प्रयोगों के लिए उचित समय है। हमें आगे बढ़ने, उन्हें खुद को साबित करने का मौका देने के लिए इसी बल्लेबाजी क्रम को बनाए रखना होगा।’’

ये भी पढ़ें: टी20 विश्व कप सेमीफाइनल की प्लेइंग इलेवन को लेकर पूरी तरह आश्वस्त थी

उन्होंने कहा, ‘‘आपको साबित करने के लिए पर्याप्त समय मिलना चाहिए। जब हम टीम में आए थे तो मुझे नहीं लगता कि मैंने दूसरे या तीसरे मैच से ही रन बनाने शुरू कर दिए थे। हम प्रयोग करने के बजाय मैच जीतने पर ध्यान दे रहे हैं।’’