Sourav Ganguly asked MS Dhoni to change his approach towards T20I
सौरव गांगुली-महेंद्र सिंह धोनी ©AFP

पूर्व भारतीय कप्तान सौरव गांगुली ने महेंद्र सिंह धोनी को टी20 अंतरराष्ट्रीय मैचों के प्रति ‘अलग’ रवैया अपनाने की सलाह दी है। वीवीएस लक्ष्मण और अजित अगरकर सहित कुछ पूर्व क्रिकेटरों ने हाल में टी20 में धोनी के भविष्य पर सवाल उठाए हैं। गांगुली ने कहा, ‘‘वनडे की तुलना में उसका टी20 अंतरराष्ट्रीय रिकॉर्ड उतना अच्छा नहीं है। उम्मीद करते हैं कि कोहली और टीम मैनेजमेंट उनसे अलग से बात करेगा। उसमें काफी क्षमता है। अगर वह टी20  के प्रति रवैया बदलता है तो वह फिर वह सफल हो सकता है।’’

न्यूजीलैंड के खिलाफ राजकोट में 197 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए भारत 97 रन पर चार विकेट गंवाकर मुश्किल में थी जिसके बाद धोनी कप्तान विराट कोहली का साथ देने क्रीज पर उतरे लेकिन उन्हें स्पिन गेंदबाजों के खिलाफ परेशानी का सामना करना पड़ा। धोनी ने बड़े शॉट जरूर लगाए लेकिन वह स्ट्राइक रोटेट करने में असफल रहे और आखिर में भारत मैच हार गया। गांगुली का हालांकि मानना है कि धोनी में काफी क्रिकेट बचा है खासकर वनडे मैचों में।

एशिया कप अंडर19: नेपाल ने किया बड़ा उलटफेर, भारत को 19 रनों से हराया
एशिया कप अंडर19: नेपाल ने किया बड़ा उलटफेर, भारत को 19 रनों से हराया

गांगुली ने कोलकाता में एक टीवी शूटिंग के दौरान कहा, ‘‘मुझे लगता है कि उसे वनडे क्रिकेट खेलना जारी रखना चाहिए लेकिन उसे टी20 में अलग तरीका अपनाना होगा। उसे टी20 अंतरराष्ट्रीय मैच खुलकर खेलने होंगे। यह चयनकर्ताओं पर निर्भर करता है और वे क्या चाहते हैं कि वह कैसे खेले।’’ गांगुली ने श्रीलंका के खिलाफ आगामी टेस्ट सीरीज के लिए आलराउंडर हार्दिक पंड्या को आराम देने के भारत के फैसले पर हैरानी जताई।

उन्होंने कहा, ‘‘मैं हैरान हूं, मुझे नहीं पता कि क्या वह चोटिल है। उसने सिर्फ तीन टेस्ट खेले हैं… यह खेलने की उम्र है। मुझे असल कारण नहीं पता। उम्मीद करता हूं कि वह फिट है। भारत तीन स्पिनरों के साथ नहीं खेलेगा, निश्चित तौर पर ईडन गार्डन्स पर नहीं क्योंकि यहां की पिच अलग है। वे दो स्पिनरों के साथ खेलेंगे और अब हार्दिक पंड्या नहीं है इसलिए आलराउंडर के स्थान के लिए उन्हें अलग कॉम्बिननेशन चुनना होगा।’’ गांगुली ने उम्मीद जताई कि पिछले महीने टेस्ट सीरीज में पाकिस्तान पर आत्मविश्वास बढ़ाने वाली 2-0 की जीत के बाद श्रीलंका की टीम भारत को कड़ी टक्कर देगी।