भारत में लगातार बढ़ते कोरोना संक्रमण के मामलों के बीच नौ अप्रैल से आईपीएल 2021 की शुरुआत होने जा रही है. महाराष्‍ट्र में देश में फैले कोरोना के 50 प्रतिशत मामले हैं. इसके बावजूद भी मुंबई में आईपीएल के मैचों का आयोजन होगा. बीसीसीआई अध्‍यक्ष सौरव गांगुली ने माना कि बायो-बबल के कठोर नियमों को लेकर विदेशी खिलाड़ी से ज्‍यादा भारतीय अधिक सहिष्‍णु हैं.

सौरव गांगुली ने अपनी बात को साबित करने के लिए ऑस्‍ट्रेलियाई टीम का उदाहरण भी दिया. दादा का कहना है कि कंगारू टीम ने कोरोन संक्रमण और कठोर बायो-बबल को देखते हुए ही बीते दिनों दक्षिण अफ्रीका का दौरान भी रद्द कर दिया था.

वहीं, सौरव गांगुली ने दूसरी ओर भारतीय क्रिकेटर्स की तारीफ करते हुए कहा कि वो बीते छह-सात महीने से सब कुछ सहते हुए बायो-बबल में शांतिपूर्ण तरीके से क्रिकेट खेल रहे हैं.

मानसिक स्वास्थ्य सेवा केंद्र के वर्चुअल अनावरण के दौरान दादा ने कोलकाता में कहा, “हम महसूस करते हैं कि हम भारतीय विदेशों (क्रिकेटरों) की तुलना में थोड़ा अधिक सहिष्णु हैं. मैंने बहुत सारे अंग्रेजों, ऑस्ट्रेलियाई, कैरेबियाई खिलाड़ियों के साथ खेला है .. वे मानसिक स्वास्थ्य का त्याग करते हैं.”

“पिछले छह-सात महीनों में, बायो-बबल में इतना क्रिकेट चल रहा है, यह कठिन है. बस होटल के कमरे से मैदान तक जा रहे हैं, दबाव को संभालें और कमरे में वापस आएं और फिर वापस जाएं. यह एक अलग जीवन है.”

सौरव गांगुली ने आगे कहा, “ऑस्ट्रेलियाई टीम को देखें. ऑस्ट्रेलिया में भारत के साथ हुए सीरीज के बाद वे दक्षिण अफ्रीका जाने वाले थे लेकिन कोरोना के डर से वे वहां नहीं गए.”