सौरव गांगुली © AFP
सौरव गांगुली © AFP

भारतीय टीम के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली को धमकी भरा खत भेजने वाले शख्स को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। मोदनीपुर जिले की पुलिस ने धमकी भरा खत भेजने वाले युवक निर्मल्य सामंत को गिरफ्तार कर लिया। आपको बता दें कि सात जनवरी को सौरव गांगुली के घर पर एक थर भेजा गया था जिसमें धमकी देते हुए कहा गया था कि अगर सौरव गांगुली मेदिनीपुर में आयोजित होने वाले कार्यक्रम में हिस्सा लेने जाएंगे तो उन्हें जान से मार दिया जाएगा।

धमकी भरा खत मिलने के बाद सौरव गांगुली की तरफ से पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज कराई गई थी। शिकायत के बाद पुलिस ने अपनी जांच शुरू की और काफी जद्दोजहद के बाद धमकी देने वाले आरोपी निर्मल्य सामंत को मेदिनीपुर के अरविंदनगर से गिरफ्तार कर लिया गया। खबरों के मुताबिक निर्मल्य सामंत गड़बेत्ता के विधायक आशीष चक्रवर्ती के मकान के पास रहता है। उसे जब पता लगा कि 19 जनवरी को गड़बेत्ता में आयोजित एक कार्यक्रम में विधायक आशीष चक्रवर्ती सौरव गांगुली को आमंत्रित कर रहे हैं, तो उससे यह सहा नहीं गया। उसे लगा कि इससे विधायक का कद बढ़ जाएगा और इसी के चलते उसने सौरव गांगुली को धमकी भरा खत लिखने की ठानी, जिससे वह इस कार्यक्रम में भाग न ले सकें। ये भी पढ़ें: हमारी टीम वनडे में शानदार प्रदर्शन करने के लिए पूरी तरह तैयार है: बेन स्टोक्स

आपको बता दें कि कुछ ही दिन पहले सौरव गांगुली को धमकी भरा खत मिला था जिसमें उन्हें जान से मारने की धमकी दी गई थी। जिसके बाद सौरव न कहा था कि हां, मुझे सात जनवरी को एक खत मिला था और मैंने इस बारे में पुलिस और आयोजकों को बता दिया है, देखते हैं कि आगे क्या होगा। यह एक लाइव प्रोग्राम होगा इसलिए आप वहां आएं और स्वयं देखें कि मैं वहां हूं या नहीं।