Sourav Ganguly: I have full sympathy with Steven Smith, He is not a traitor
सौरव गांगुली और स्टीवन स्मिथ एक साथ आईपीएल खेल चुके हैं © AFP

टीम इंडिया के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली का कहना है कि गेंद से छेड़छाड़ मामले में बैन हुए ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर स्टीवन स्मिथ को धोखेबाज कहना गलत है। गांगुली ने स्मिथ का समर्थन करते हुए कहा कि उन्हें पूर्व ऑस्ट्रेलियाई कप्तान के साथ पूरी सहानुभूति है और वो मानते हैं कि केपटाउन टेस्ट में जो कुछ भी हुआ वो धोखेबाजी नहीं थी। गांगुली ने अपने जीवन पर आधारित किताब ‘ए सेंचुरी इस नॉट इनफ’ के लांच के दौरान पीटीआई को दिए बयान में कहा, “मुझे स्टीवन स्मिथ से पूरी सहानुभूति है और उम्मीद करता हूं कि वो वापसी करेगा और ऑस्ट्रेलिया के लिए रन बनाएगा क्योंकि मुझे नहीं लगता कि ये धोखेबाजी थी, सही बात कहूं तो मैं नहीं मानता कि ये धोखा था।’’

बॉल टेंपरिंग मामला: स्टीवन स्मिथ के बाद कैमरून बैनक्रॉफ्ट ने भी बैन के खिलाफ अपील करने से इंकार किया
बॉल टेंपरिंग मामला: स्टीवन स्मिथ के बाद कैमरून बैनक्रॉफ्ट ने भी बैन के खिलाफ अपील करने से इंकार किया

बता दें कि दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ केपटाउन टेस्ट के तीसरे दिन ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर कैमरून बैनक्रॉफ्ट सैंडपेपर के जरिए गेंद को बिगाड़ते हुए कैमरे में कैद हो गए। जिसके बाद स्मिथ ने मीडिया के सामने आकर इसकी जिम्मेदारी ली। क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने मामले की पूरी जांच के बाद स्मिथ, बैनक्रॉप्ट के साथ उप कप्तान डेविड वॉर्नर को भी दोषी पाया। सजा के तौर पर सीए ने स्मिथ और वार्नर पर एक-एक साल का बैन लगाया, वहीं सलामी बल्लेबाज बैनक्रॉफ्ट पर नौ महीने का बैन लगाया गया है।।

गांगुली ने आगे कहा, “मैं स्मिथ, वार्नर और बैनक्रॉफ्ट को शुभकामनायें दूंगा और उम्मीद करूंगा कि वे वापसी करें और अच्छा खेलें। इसे धोखा कहना सही नही होगा और मैं उन्हें शुभकामानएं देना चाहूंगा कि वापस आए और अच्छा खेलें।” गौरतलब है कि स्मिथ और बैनक्रॉफ्ट ने आज ही ट्वीट कर ये बताया कि वो सीए के लगाए बैन के खिलाफ कोई अपील नहीं करेंगे।