Sourav Ganguly: I was Ready to vacate captaincy after sachin tendulkar, Harbhajan Singh question me on april fool day
Harbhajan Singh, Sourav Ganguly @ Twitter

भारतीय टीम के पूर्व कप्‍तान और मौजूदा समय में बीसीसीआई अध्‍यक्ष सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) ने एक पुराने किस्‍से को याद किया। दादा ने बताया कि हरभजन सिंह (Harbhajan Singh) और सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) ने उन्‍हें एक ऐसी बात कह दी थी जिसके बाद वो कप्‍तानी से इस्‍तीफा देने के लिए तैयार हो गए थे।

सौरव गंगुली ने शनिवार को अनएकेडेमी एप पर अपने एक प्रशंसक के सवाल का जवाब देते हुए कहा, “मैं उसे हमेशा याद रखूंगा, मैं तब पाकिस्तान के खिलाफ रन नहीं बना रहा था। मैं टीम का कप्तान था। मुझे याद भी नहीं था कि उस दिन अप्रैल फूल है और खिलाड़ी मजाक भी कर सकते हैं।”

विराट कोहली ने 2012 में पाकिस्‍तान के खिलाफ खेले इस मैच को बताया करियर का टर्निंग प्‍वाइंटav

“मैन रन नहीं कर पा रहा था इसलिए मैं थोड़ा निराश था। मैं जैसे ही ड्रेसिंग रूम में गया टीम के खिलाड़ी एक साथ आ गए। सचिन और हरभजन कह रहे थे कि आपने टीम के बारे में जो मीडिया में कहा उससे हम लोग निराश हैं। मैंने कहा, मैंने क्या कहा। उन्होंने कहा कि अखबारों में खबर है कि टीम जिस तरह से खेल रही है आप उससे खुश नहीं हैं।”

गांगुली ने कहा कि जो उन्होंने सुना उसे सुनकर वह निराश हो गए थे और कप्तानी से इस्तीफा देने को भी तैयार थे। “मैंने उन लोगों से कहा कि अगर आप लोगों को लगता है कि मैंने कुछ गलत किया है तो मैं कप्तानी से इस्तीफा दे देता हूं। यह कहकर मैं अपनी कुर्सी पर बैठ गया। कुछ देर बाद मैंने देखा कि हर कोई हंस रहा है।”

‘गेल-रसेल-होल्‍डर ने मुझे क‍हा था कि भारत पाकिस्‍तान को CWC-2020 SF में नहीं देखना चाहता’

गांगुली ने बताया कि हरभजन ने फिर उन्हें इस मजाक के बारे में बताया था। “मैं उस समय काफी निराश था और थोड़ा हैरान भी। तभी हरभजन ने उचकते हुए कहा अप्रैल फूल।”

“उस चीज ने मेरे लिए काम किया क्योंकि मैं फिर उस सीरीज में अच्छा खेला। यह बताता है कि मेरे खिलाड़ी मेरे लिए सोचते हैं। मैं रन नहीं कर रहा था और वो लोग चाहते थे कि मैं अच्छा महसूस करूं।”