Sourav Ganguly: It’s strange how captain and the coach think different
Ravi Shastri, Virat Kohli © AFP

पूर्व भारतीय कप्तान सौरव गांगुली ने इस बात पर हैरानी जताई है कि टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली और कोच रवि शास्त्री की सोच में कितनी अलग है। गांगुली का कहना है कि कोहली को अपने आसपास ऐसे शख्स की जरूरत है जो उन्हें उनकी और टीम की कमियों के बारे में बता सकें।

गांगुली ने इंडिया टीवी से बातचीत में कहा, “प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान जब माइक अथर्टन में कोहली से साउथम्पटन में भारत की हार का कारण पूछा तो कोहली ने कहा कि वो अगर वो थोड़ी और देख खेलते तो इंडिया मैच जीता जाता। उसके जैसे बड़ी खिलाड़ी अपने ऊपर जिम्मेदारी लेते हैं और वो कभी बहाने नहीं बनाते हैं। खेल की तरफ कोहली का रवैया हमेशा दूसरों से अलग रहा है। मैं ये कहना चाहूंगा कि ये कितनी अजीब बात है कि कप्तान और कोच की सोच कितनी अलग है।”

पूर्व भारतीय कप्तान ने कहा, “एक कप्तान खिलाड़ी को बनाता है। उसे ये कहना होगा कि तुम मेरे तुरुक के इक्के हो और तुम मुझे मैच जिताओगे। इस बात में कोई दोराय नहीं है कि कोहली बेहतरीन बल्लेबाज हैं लेकिन बतौर टीम वो उन्हें कहां ले जाता है वो देखने वाली बात होगी। जिस तरह से कोहली बात करता है उसमें अंतर्दर्शन दिखता है। उसे सही मार्गदर्शन की जरूरत है और अपने आसपास ऐसे लोगों की जरूरत है जो उसे ये बता सकें कि कहां काम करने की जरूरत है।”