सौरव गांगुली और विराट कोहली © Getty Images
सौरव गांगुली और विराट कोहली © Getty Images

भारत ने इंग्लैंड को टेस्ट सीरीज में 4-0 से करारी शिकस्त दे दी है। जिसके बाद देशभर में टीम इंडिया की तारीफों के पुल बांधे जा रहे हैं। इसी क्रम में भारत के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली ने भारतीय टीम की जीत का स्वागत किया है। विराट कोहली की कप्तानी में भारतीय टीम ने आखिरी टेस्ट में भी इंग्लैंड को एक पारी और 75 रनों से हरा दिया। मैच में के एल राहुल और करुण नायर ने बेहतरीन बल्लेबाजी का मुजाहिरा पेश किया, साथ ही रवींद्र जडेजा ने मैच में 10 विकेट झटके।

टीम की जीत पर गांगुली ने कहा कि मैच में भारत ने बेहतरीन खेल दिखाया। मुझे पूरा भरोसा है कि टीम अपने विजयी अभियान को जारी रखेगी। अगर भारतीय उपमहाद्वीप में टीम इंडिया को हराना है तो आपके पास विश्वस्तरीय स्पिन गेंदबाज होने चाहिए और आदिल राशिद, मोईन अली उतने प्रभावी नहीं थे। पांचवें मैच के आखिरी दिन इंग्लैंड ने शुरुआत अच्छी की थी लेकिन चाय के बाद भारतीय गेंदबाजों ने जबर्दस्त वापसी करते हुए विकेट लेते चले गए और भारत को ऐतिहासिक जीत दिला दी। जब सौरव गांगुली से इंग्लैंड की लड़खड़ाती बल्लेबाजी पर सवाल पूछा गया तो उन्होंने कहा कि यहां विराट कोहली ने बतौर कप्तान अहम भूमिका निभाई और टीम के खिलाड़ियों पर भरोसा जगाया कि मैच अभी खत्म नहीं हुआ है। हमने सीरीज में चीर टॉस गंवाए लेकिन फिर भी हमने चार लगातार मैच जीते जो काबिलेतारीफ है। ये भी पढ़ें: रवींद्र जडेजा ने लिया अद्भुत कैच, ताजा हुईं 1983 विश्व कप के फाइनल की यादें

सौरव गांगुली ने साथ ही कहा, ‘भारतीय टीम के पास बेहतरीन बेंच स्ट्रेंथ मौजूद है, बेंच स्ट्रेंथ में ऐसे खिलाड़ी हैं जो मौका मिलने पर अच्छा करने का माद्दा रखते हैं। पांचवें मैच में करुण नायर लाजवाब थे। ऐसे में टीम में प्रतिस्पर्धा होना बहुत अच्छी बात है, अभी भारत में पांच टेस्ट मैच और खेले जाने हैं और भारतीय टीम सभी पांच टेस्ट मैचों को जीत सकती है। उसके बाद हम ये निर्णय ले पाएंगे कि विदेशों में तेज गेंदबाजी के सामने कौन ज्यादा बेहतर रहेगा।’