Sourav Ganguly: Virat Kohli has right to say whom he wants as coach
Virat Kohli with Sourav Ganguly @IANS

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली ने बुधवार को कहा कि टीम का कप्तान होने के नाते विराट कोहली के पास कोच चयन प्रक्रिया पर अपनी राय देने का पूरा अधिकार है।

पढ़ें: …इन खिलाड़ियों के इर्द-गिर्द रहेगा एशेज सीरीज का रोमांच

भारत के विश्व कप सेमीफाइनल से बाहर होने के बाद पहली बार मीडिया से मुखातिब होते हुए कोहली ने भारतीय मुख्य कोच के लिए रवि शास्त्री के जारी रहने का समर्थन किया था जिनका कार्यकाल इस हफ्ते के अंत में शुरू हो रहे वेस्टइंडीज के दौरे के साथ ही समाप्त होगा।

गांगुली ने कोहली की वेस्टइंडीज रवानगी से पहले सोमवार को मुंबई में हुई प्रेस कांफ्रेंस में की गयी टिप्पणी का जिक्र करते हुए कहा, ‘वह कप्तान हैं। उनका इस मामले पर बोलने का पूरा अधिकार है।’

गांगुली उस क्रिकेट सलाहकार समिति (सीएसी) का हिस्सा थे जिसने 2017 में रवि शास्त्री को मुख्य कोच चुना था। अन्य सदस्य सचिन तेंदुलकर और वीवीएस लक्ष्मण थे।

पढ़ें: मैथ्‍यूज और मेंडिस का अर्धशतक, श्रीलंका ने बांग्‍लादेश के सामने रखा 295 रन का लक्ष्‍य

इस बार सीएसी में कपिल देव, अंशुमन गायकवाड़ और शांता रंगास्वामी शामिल हैं जो कोच का चयन करेंगे। आवेदन भरने की अंतिम तिथि मंगलवार को समाप्त हो गई थी और शास्त्री की चयन प्रक्रिया में स्वत: ही प्रविष्टि मिल गई।

कपिल की अगुआई वाली समिति ने दिसंबर में भारतीय महिला कोच डब्ल्यू वी रमन का चयन किया था।

प्रतिभाशाली सलामी बल्लेबाज पृथ्वी शॉ के आठ महीने के निलंबन के बाद गांगुली ने कहा, ‘खांसी के लिए इस्तेमाल किए जाने में विभिन्न तरह के पदार्थ हो सकते हैं। मुझे नहीं पता कि पृथ्वी शॉ के मामले में क्या हुआ।’