South Africa cricket team pledge not to taunt Australia over tampering
Faf du Plessis @Getty Images

दक्षिण अफ्रीका की टीम ऑस्ट्रेलिया के साथ इस साल की शुरुआत में हुए बॉल टैंपरिंग को पीछे छोड़ते हुए आगे बढ़ना चाहती है। रविवार से दोनों देशों के बीच शुरू हो रही वनडे सीरीज में पुरानी बातों को नहीं उठाया जाए इसका ध्यान रखा जाएगा।

इसी साल मार्च में हुए बॉल टैंपरिंग कांड के बाद पहली बार ऑस्ट्रेलिया और दक्षिण अफ्रीका की टीमों आमने सामने होंगी। दोनों देशों के बीच वनडे सीरीज का पहला मुकाबला रविवार को खेला जाना है।

ऑस्ट्रेलिया के पास बुरे दौर से वापसी करने का मौका होगा। हालिया पाकिस्तान टेस्ट और टी20 सीरीज में टीम को बुरी तरह से हार मिली। टी20 सीरीज में तो पाकिस्तान ने ऑस्ट्रेलिया को 3-0 से हराकर क्लीन स्वीप किया।

दक्षिण अफ्रीका क्रिकेट टीम के कप्तान फाफ डु प्लेसिस ने टीम से बॉल टैंपरिंग विवाद को भूल कर आगे बढ़ने कहा है। केप टाउन टेस्ट जिसमें बॉल टैंपरिंग के दोषी पाए गए स्टीव स्मिथ, डेविड वार्नर और कैमरून बेनक्राफ्ट को सजा हुई डु प्लेसिस उस मैच का हिस्सा था।

उन्होंने टीम से कहा, ”मुझे नहीं लगता एक टीम के तौर पर हमें उस बात को करने में कोई रूचि है। जो गुजरे वक्त में हुआ अब उसका क्रिकेट के साथ कोई लेना देना नहीं है। हमारे लिए यह सब वैसा ही होगा जैसा हमेशा होता है।”

कप्तान ने अपनी टीम से कहा है, ऑस्ट्रेलिया टीम के बुरे अतीत को लेकर उनको कोई बात ना कही जाए। गौरतलब है कि दक्षिण अफ्रीका फैंस ऑस्ट्रेलिया की टीम का उस कांड के बाद से ही मजाक बनाते रहे हैं। एक फैन ने तो ऑस्ट्रेलियाई स्पिनर नाथन लियोन को ऑटोग्राफ के लिए ”सैंड पेपर” आगे बढ़ाया था।