© Getty Images
© Getty Images

हाशिम आमला हर गुजरते साल के साथ अपना कद बढ़ाते जा रहे हैं। बांग्लादेश के खिलाफ खेले जा रहे पहले टेस्ट के दूसरे दिन आमला ने शानदार शतक जड़ दिया। आमला के टेस्ट करियर का यह 27वां शतक है। इसके साथ उन्होंने वेस्टइंडीज के गैरी सोबर्स (26 शतक) को पीछे छोड़ दिया है। साथ ही आमला ने एलन बॉर्डर (27 शतक) और ग्रीम स्मिथ (27 शतक) की बराबरी कर ली है। आमला अब दुनियाभर में टेस्ट क्रिकेट में सबसे ज्यादा शतक लगाने के मामले में 16वें नंबर पर पहुंच गए हैं। वहीं दक्षिण अफ्रीका की ओर से दूसरे सबसे ज्यादा शतक लगाने वाले बल्लेबाज बन गए हैं। दक्षिण अफ्रीका की ओर से टेस्ट में सबसे ज्यादा शतक लगाने का रिकॉर्ड जैक कैलिस के नाम है। कैलिस ने 45 टेस्ट शतक लगाए हैं।

गौर करने वाली बात है कि आमला ने इस मुकाम को अपने 108वें टेस्ट में हासिल किया है जबकि ग्रीम स्मिथ को इतने शतक लगाने के लिए 112 टेस्ट खेलने पड़े थे। खबर लिखे जाने तक दक्षिण अफ्रीका ने दूसरे दिन लंच तक 411/1 का स्कोर बना लिया था। हाशिम आमला 137* और डीन एल्गर 172* रन बनाकर क्रीज पर हैं। इससे पहले खेल के पहले दिन टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी दक्षिण अफ्रीका को डीन एल्गर और एडियन मार्कराम ने शानदार शुरुआत दी। दोनों ने पहले विकेट के लिए 54.2 ओवरों में 196 रन जोड़े। लेकिन इसी बीच वो हुआ जो पिछले कई दशकों से नहीं हुआ था दरअसल इस मैच के साथ डेब्यू कर रहे मार्कराम 97 रनों के व्यक्तिगत स्कोर पर रन आउट हो गए। इस साथ ही वह अपने पहले टेस्ट की पहली पारी में शतक लगाने का मौका चूक गए।

[ये भी पढ़ें: जीएसटी पर हरभजन सिंह ने डाला ‘तीसरा’, मजाक-मजाक में कसा ‘तंज’]

आपको बता दें 43 साल बाद कोई खिलाड़ी अपने डेब्यू टेस्ट में नर्वस 90 में रन आउट हुए है। मार्कराम पहले टेस्ट में रन आउट होने वाले दुनिया के तीसरे बल्लेबाज हैं। 1994 में पाकिस्तान के अब्दुल कादिर 95 रन पर रन आउट हो गए थे। वेस्टइंडीज के गॉर्डन ग्रीनीज भी 1974 में अपने डेब्यू टेस्ट में 93 रन पर रन आउट हो गए थे। इन दोनों बल्लेबाजों के बाद अब एडियन मार्कराम अपने पहले ही टेस्ट में 97 रन पर रन आउट हो गए। मार्कराम को सब्बीर रहमान ने रन आउट किया।