© Getty Images
© Getty Images

टीम इंडिया के द.अफ्रीका पहुंचने से पहले ही अफ्रीकी गेंदबाजों ने अपनी गेंदबाजी का दम दिखा दिया है। भारत के खिलाफ 5 जनवरी से शुरू हो रही टेस्ट सीरीज से पहले द.अफ्रीकी टीम जिम्बाब्वे के खिलाफ 4 दिवसीय टेस्ट मैच खेल रही है, जिसमें उसके गेंदबाजों ने कमजोर विरोधी को सिर्फ 68 रन पर ढेर कर दिया। द.अफ्रीका के तेज गेंदबाज मॉर्ने मॉर्कल ने 5 बल्लेबाजों का शिकार किया तो वहीं फेलुकवायो-रबाडा ने 2 विकेट अपने नाम किए। द.अफ्रीका ने जिम्बाब्वे को ऑल आउट करने के बाद उसे फॉलोअन दे दिया।

जिम्बाब्वे की पारी ढेर

द.अफ्रीका के 309 रनों पर पारी घोषित करने के बाद जिम्बाब्वे ने पहले दिन का खेल खत्म होने तक अपने 4 विकेट सिर्फ 14 रन पर गंवा दिए थे। खेल के दूसरे दिन भी यही सिलसिला जारी रहा। 50 रन पूरे होते ही जिम्बाब्वे ने अपने 7 विकेट गंवा दिए। मॉर्कल-फेलुकवायो और रबाडा की तेजी के आगे जिम्बाब्वे की टीम महज 68 रनों पर ढेर हो गई और द.अफ्रीकी टीम को 241 रनों की बढ़त मिली।

मॉर्कल और डीविलियर्स के रिकॉर्ड

भारत के खिलाफ सीरीज शुरू होने से पहले मॉर्ने मॉर्कल का 5 विकेट लेना बेहद बड़ी खबर है क्योंकि वो कई दिनों के बाद चोट से वापसी कर रहे थे और उनका लय में आना जरूरी था। साथ ही आपको बता दें मॉर्कल ने 5 साल के लंबे वक्त बाद टेस्ट मैच की एक पारी में 5 विकेट लिए हैं। इससे पहले मॉर्कल ने साल 2012 में एडिलेड टेस्ट में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 5 विकेट झटके थे।

दक्षिण अफ्रीका दौरे पर टीम इंडिया की जीत क्यों पक्की, राहुल द्रविड़ ने बताई बड़ी वजह
दक्षिण अफ्रीका दौरे पर टीम इंडिया की जीत क्यों पक्की, राहुल द्रविड़ ने बताई बड़ी वजह

जिम्बाब्वे के खिलाफ मुकाबले के दौरान कप्तान क्रीमर का कैच लपकते ही ए बी डीविलियर्स ने भी एक खास मुकाम हासिल किया। डीविलियर्स ने टेस्ट में अपने 200 कैच पूरे कर लिए। डु प्लेसी की जगह द.अफ्रीका की कप्तानी कर रहे डीविलियर्स ने 96 कैच विकेटकीपर और 104 कैच बतौर फील्डर लपके हैं।