अच्छी शुरुआत के बाद मध्य और निचले क्रम के ध्वस्त होने के कारण भारतीय महिला क्रिकेट टीम को आज यहां दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ तीसरे टी20 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच पांच विकेट से हार का सामना करना पड़ा। दक्षिण अफ्रीका ने इस जीत के साथ पांच मैचों की श्रृंखला को जीवंत रखा है जिसमें मेजबान टीम 1-2 से पीछे है। दक्षिण अफ्रीका में पहली टी20 श्रृंखला जीतने पर नजरें टिकाए बैठी भारतीय टीम 12वें ओवर में दो विकेट पर 93 रन बनाकर अच्छी स्थिति में होने के बावजूद 17 .5 ओवर में 133 रन पर ढेर हो गई।

दक्षिण अफ्रीका ने इसके जवाब में शीर्ष क्रम के उम्दा प्रदर्शन की बदौलत एक ओवर शेष रहते पांच विकेट पर 134 रन बनाकर जीत दर्ज की। दक्षिण अफ्रीका ने लिजेल ली (05) का विकेट जल्दी गंवा दिया लेकिन इसके बाद कप्तान डेन वान नीकर्क (20 गेंद में 26 रन) और स्यून लुस (34 गेंद में 41 रन) उपयोगी साझेदारी की। नीकर्क के आउट होने पर लुस ने मिगनोन डू प्रीज (20) के साथ तीसरे विकेट के लिए 50 रन जोड़कर टीम को लक्ष्य के करीब पहुंचाया। क्लो टायरन ने भी 15 गेंद में 34 रन की तेज पारी खेली।

जोहान्सबर्ग टी20: टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करेगा दक्षिण अफ्रीका; टीम इंडिया मे लौटे सुरेश रैना
जोहान्सबर्ग टी20: टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करेगा दक्षिण अफ्रीका; टीम इंडिया मे लौटे सुरेश रैना

भारत की तरफ से तेज गेंदबाज पूजा वस्त्रकार ने 21 रन देकर दो विकेट चटकाए। अनुजा पाटिल ने निराश किया जिन्होंने चार ओवर में 44 रन खर्च करके सिर्फ एक विकेट हासिल किया। इससे पहले भारतीय टीम ने अंतिम पांच विकेट सिर्फ नौ रन जोड़कर गंवाए। टास हारकर बल्लेबाजी करने उतरी भारतीय टीम कप्तान हरमनप्रीत कौर (48) और स्मृति मंधाना (37) की पारियों की बदौलत 12वें ओवर में दो विकेट पर 93 रन बनाकर काफी अच्छी स्थिति में थी लेकिन इन दोनों के पवेलियन लौटने के बाद भारतीय पारी ढेर हो गई। हरमनप्रीत ने 30 गेंद की अपनी पारी में दो छक्के और छह चौके मारे।

पहले ही ओवर में अनुभवी मिताली राज (00) का विकेट गंवाने के बाद हरमनप्रीत और स्मृति ने दूसरे विकेट के लिए तेजी से 55 रन जोड़े। लेग स्पिनर नीकर्क ने स्मृति को मोसेलिन डेनियल्स के हाथों कैच कराके इस साझेदारी को तोड़ा। स्मृति ने 24 गेंद का सामना करते हुए पांच चौके और एक छक्का जड़ा। तेज गेंदबाज शबनम इस्माइल (30 रन पर पांच विकेट) ने हरमनप्रीत को विकेट के पीछे कैच कराके पहली सफलता हासिल की और फिर भारतीय पारी को समेटने में अहम भूमिका निभाई। तेज गेंदबाज मासाबाता क्लास (20 रन पर दो विकेट) ने शबनम का अच्छा साथ निभाया।