South African Cricket Was Controlled by ‘Big Five’: Roger Telemachus

दक्षिण अफ्रीका के पूर्व तेज गेंदबाज रोजर टेलीमाकस (Roger Telemachus) ने कहा है कि उनके खेलने के दिनों में, उनके देश का क्रिकेट सफेद खिलाड़ियों के एक समूह द्वारा नियंत्रित किया जाता था, जिन्हें ‘बिग 5’ कहा जाता था. टेलीमाकस ने इस बात की व्याख्या की कि यह शब्द कैसे अस्तित्व में आया.

टेलीमाकस ने सामाजिक न्याय और राष्ट्र-निर्माण (एसजेएन) की सुनवाई के दौरान गुरुवार को कहा, यही वह जगह है जहां बिग-5 ने शुरुआत की. वे चयन को नियंत्रित करते थे. वे सब कुछ नियंत्रित करते थे. वे कोच के पास जाते थे और कहते थे कि हम इस तरह से खेलने जा रहे हैं. यही वह जगह है जहां हमने इन खिलाड़ियों को नाम दिया है.

खिलाड़ियों के नाम का खुलासा किए बिना, टेलीमाकस ने एडवोकेट सैंडिल जुलाई से कहा, यह सफेद खिलाड़ियों का एक समूह है. टेलीमाकस ने दावा किया कि वेस्टइंडीज में हुए 2007 विश्व कप में उन्हें एक मैच भी मौका नहीं मिल पाने के लिए समूह आंशिक रूप से जिम्मेदार था. उन्होंने यह भी संकेत दिया कि चयन में राजनीतिक हस्तक्षेप था. इसमें सेमीफाइनल मुकाबला भी शामिल था.

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सेमीफाइनल में ना तो टेलीमाकस और ना ही मखाया एनटिनी खेल सके थे. इस मैच में दक्षिण अफ्रीका सात विकेट से हार गया था. एसजेएन की सुनवाई का उद्देश्य क्रिकेट में शामिल लोगों को अतीत में नस्लीय भेदभाव की घटनाओं को याद करने और अब खेल में पूर्वाग्रह की घटनाओं को देखने के लिए एक मंच प्रदान करना है. सुनवाई अगले दो सप्ताह तक चलने वाली है जिसके बाद लोकपाल एडवोकेट दुमिसा नत्सेबेजा सीएसए को एक रिपोर्ट और सिफारिशें पेश करेंगी. टेलीमाकस ने नौ साल में 37 वनडे और तीन टी20 मैच खेले.