कोरोनावायरस के बढ़ते मामलों के बीच महाराष्‍ट्र में धारा-144 लगा दी गई है. उत्‍तराखंड को लॉकडाउन की घोषणा भी कर दी गई है. आज पूरे देश में जनता कर्फ्यू लगा है ताकि इस खतरनाक वायरस से लोगों को बचाया जा सके. कोराेना से संक्रमित मरीजों की बढ़ती संख्‍या को देखते हुए खेल मंत्रालय से स्‍पोर्ट्स अथॉरिटी ऑफ इंडिया (SAI) के विभिन्‍न सेंटर्स को क्वॉरेंटाइन की सुविधा के लिए इस्‍तेमाल करने का निर्णय लिया है.

क्वॉरेंटाइन सेंटर वो जगह है जहां कोरोनावायरस से ग्रस्‍त संभावित लोगों को एकांतवास में अन्‍य लोगों से अलग रखा जाता है. खेल मंत्रालय की तरफ से बताया गया कि विभिन्‍न राज्‍यों व जिलों में स्‍थानी सेंटर, स्‍टेडियम व हॉस्‍टल आदि का प्रयोग क्‍वॉरेंटाइन सेंटर के रूप में किया जाएगा.

खेल सचिव राधेश्‍याम जुलानिया ने न्‍यूज एजेंसी पीटीआई से बातचीत के दौरान कहा कि स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय की तरफ से उनसे इस तरह के सेंटर के लिए जगह मांगी गई थी. उनकी दरख्‍वास्‍त पर ही SAI से जुड़े सभी महत्‍वपूर्ण स्‍थानों को क्‍वॉरेंटाइन सेंटर के तौर पर इस्‍तेमाल करने का निर्णय लिया गया है.

खेल सचिव ने आगे कहा कि भारत सरकार को हमारे मंत्रालय से मदद की जरूरत है. आपदा की स्थिति में हमसे जो भी मदद मांगी जाएगी वो हम पूरी करेंगे.

कोरोनावायरस के कारण साई के सभी कैंप को रद्द कर दिया गया है. केवल ओलंपिक के लिए जाने वाले खिलाड़ियों के लिए ही कैंप लगाए जा रहे हैं. अन्‍य सभी एथलीट को अपने घर के अंदर रहने की सलाह दी गई है.