श्रीलंका टीम © AFP
श्रीलंका टीम © AFP

भारत और श्रीलंका के बीच खेली जा रही सीरीज में भारतीय टीम का दबदबा देखने को मिला है। फिर चाहे वो मैदान के अंदर के प्रदर्शन की बात हो या फिर कप्तानों की बाद। अगर हम भारत और श्रीलंका के बीच आखिरी 7 मैचों की बात करें तो इस दौरान श्रीलंका ने 5 कप्तान आजमाए हैं। इन 7 मुकाबलों में हर बार विराट कोहली ने ही भारतीय टीम की कप्तानी की है लेकिन श्रीलंका के लिए ऐसा बिल्कुल नहीं रहा। चैंपियंस ट्रॉफी से लेकर तीसरे वनडे तक श्रीलंका 5 कप्तानों को आजमा चुका है। आइए आपको विस्तार से बताते हैं भारत के खिलाफ आखिरी 7 मैचों में श्रीलंका ने कब-कब बदले कप्तान।

चैंपियंस ट्रॉफी के लीग मैच में: भारत के खिलाफ चैंपियंस ट्रॉफी के लीग मैच में श्रीलंका के कप्तान एंजेलो मैथ्यूज थे। मैथ्यूज की कप्तानी में श्रीलंका ने भारत के खिलाफ खेले गए मुकाबले में 300 से ज्यादा के रनों के लक्ष्य का पीछा कर लिया था और मुकाबले में भारत को चौंकाते हुए शानदार जीत दर्ज की थी। हालांकि श्रीलंका की टीम लीग राउंड से ही बाहर हो गई थी। ये भी पढ़ें: मौजूदा श्रीलंका दौरे पर पहली बार टॉस हारे विराट कोहली, भारत की पहले गेंदबाजी

भारत के खिलाफ पहले टेस्ट मैच में: भारत जब श्रीलंका के दौरे पर गया तो मेजबान टीम के कप्तान रंगना हेराथ थे। रंगना हेराथ को मैथ्यूज की जगह टीम की कमान सौंपी गई थी। हालांकि हैराथ ना तो कप्तानी में कुछ कर सके और ना ही गेंदबाजी में कमाल दिखा सके। भारत ने पहले मुकाबले को 304 रनों से जीत लिया था। इस जीत के साथ ही भारत ने 3 मैचों की सीरीज में 1-0 की बढ़त भी बना ली थी।

भारत के खिलाफ दूसरे टेस्ट मैच में: टेस्ट सीरीज के दूसरे मैच में भी श्रीलंका के कप्तान बदलने का सिलसिला जारी रहा और दूसरे मैच में टीम की कप्तानी दिनेश चंडीमल ने की। हालांकि चंडीमल के आने से भी अपनी टीम को ज्यादा फायदा नहीं हुआ और भारत ने मुकाबले को एक पारी और 53 रनों से अपने नाम कर लिया।

भारत के खिलाफ पहले वनडे में: टेस्ट की ही तरह वनडे में भी श्रीलंका ने पहले ही मैच में फिर से कप्तान बदल दिया। इस बार मेजबान टीम की कमान उपुल थरंगा के हाथ में थी। हालांकि थरंगा भी अपनी टीम के लिए फायदेमंद साबित नहीं हुए और टीम की हार का सिलसिला जारी रहा। पहले वनडे में भारत ने श्रीलंका को 9 विकेट से धो दिया और 5 मैचों की वनडे सीरीज में 1-0 की बढ़त हासिल कर ली।

भारत के खिलाफ तीसरे वनडे में: सीरीज के तीसरे और सबसे अहम मुकाबले में श्रीलंका की टीम का कप्तान फिर से बदल गया और इस बार टीम की कमान चामरा कपुगेदरा के हाथों में सौंपी गई। दूसरे वनडे में थरंगा को स्लो ओवर रेट का दोषी पाया गया और जिसके बाद उनपर 2 मैचों का बैन लगा दिया। इसी के कारण कपुगेदरा को तीसरे वनडे में श्रीलंका का कप्तान बनाया गया।

साफ है भारत के खिलाफ आखिरी 7 मैचों में श्रीलंका की टीम ने 5 कप्तान आजमाए हैं। हालांकि कोई भी कप्तान श्रीलंका के खराब प्रदर्शन को सुधारने में कामयाब नहीं हो सका। आपको बता दें कि 3 मैचों की टेस्ट सीरीज में हार के बाद पहले 2 वनडे में भी श्रीलंका को हार मिली है और अगर टीम तीसरे मैच को भी हार जाती है तो वो वनडे सीरीज भी हार जाएगी।