Sri Lanka Cricket Board spend $75,000 on new software to train cricketers for 2019 World Cup
श्रीलंका क्रिकेट टीम © AFP

श्रीलंका क्रिकेट बोर्ड ने मशहूर फुटबॉल क्लब बार्सिलोना को देखकर अपने खिलाड़ियों को अगले साल होने वाले विश्व कप के लिए तैयार करने के लिए नया सॉफ्टवेयर खरीदा है। बोर्ड को उम्मीद है कि स्टेट ऑफ द आर्ट प्लेयर मैनेजमेंट सिस्टम पिछले साल बीते खराब सीजन के बाद विश्व क्रिकेट में श्रीलंका की प्रतिष्ठा फिर से बनाएगा। बोर्ड ने इस सॉफ्टवेयर पर 75,000 डॉलर की बड़ी रकम खर्च करी है। श्रीलंकाई क्रिकेट बोर्ड के अधिकारियों का कहना है कि इस सॉफ्टवेयर को श्रीलंका में बने एनालिसिस सिस्टम के साथ जोड़कर उनकी टीम दुनिया के सबसे बेहतरीन प्लेयर मैनेजमेंट तकनीक की मालिक बन जाएगी।

Nidahas Trophy 2018, 4th T20I: India win the toss; opt to bowl
Nidahas Trophy 2018, 4th T20I: India win the toss; opt to bowl

श्रीलंका क्रिकेट के प्रमुख एशले डी सिल्वा ने एएफपी को दिए बयान में कहा, “विश्व कप पर नजर रखते हुए हम अपने खेल को बेहतर करने के लिए बहुत सारे संसाधनों और तकनीक में पैसा लगा रहे हैं।” श्रीलंका क्रिकेट टीम ने साल 1996 में पहली बार विश्व कप जीत था, जिसके बाद से टीम वनडे विश्व कप नहीं जीत पाई है। हालांकि टीम 2014 में टी20 विश्व कप जीती थी लेकिन उसके बाद खराब फॉर्म, चोट और बाहरी विवादों को चलते टीम की रैंकिंग में भारी गिरावट और प्रदर्शन भी खराब होता चला गया।

हालांकि नए कोच चंडिका हथरुसिंघा के आने के बाद से श्रीलंका टीम के प्रदर्शन में सुधार हुआ है। टीम ने बांग्लादेश दौरे पर तीनों फॉर्मेट की सीरीज जीती और हाल ही में घरेलू मैदान पर खेली जा रही निदास ट्रॉफी में भारत को करारी मात दी। इस नए सॉफ्टवेयर के बारे में बात करते हुए श्रीलंकाई कोच ने कहा,”इस सिस्टम से टीम को फायदा होगा और हम सबूत के आधार पर फैसले ले सकेंगे। ये सस्ती बिल्कुल भी नहीं है लेकिन ये एक अच्छा निवेश है। इससे हमें तुरंत जानकारी मिल सकेगी।”

श्रीलंकाई क्रिकेटर अभ्यास और मैच के दौरान जीपीएस डिवाइस पहनेंगे जिसके जरिए उनकी फिटनेस और प्रदर्शन पर नजर रखी जाएगी। बता दें कि निदास ट्रॉफी के दौरान श्रीलंकाई क्रिकेटर जीपीएस डिवाइस पहनकर खेल रहे हैं।