Sri Lanka Cricket elections to go ahead as scheduled tomorrow
Mohan-de-Silva @ AFP

श्रीलंका क्रिकेट (एसएलसी) के चुनाव पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार गुरुवार को ही होंगे क्योंकि एक पक्ष मूल पदों की जगह अलग पदों के लिए मैदान में उतरने को सहमत हो गया।

पढ़ें: ‘भारत और इंग्‍लैंड विश्‍व कप जीत के प्रबल दावेदार’      

मोहन डि सिल्वा को अध्यक्ष जबकि रविन विक्रमरत्ने को सचिव पद के लिए चुनौती पेश करनी थी लेकिन बुधवार को इन्होंने अदालत के समक्ष क्रमश: सचिव और उपाध्यक्ष पद के लिए मैदान में उतरने का विकल्प चुना।

इन दोनों ने एसएलसी की नामांकन समिति के उनकी उम्मीदवारी खारिज करने को अपीली अदालत में चुनौती दी थी। एसएलसी के चुनाव पिछले साल मई में होने थे लेकिन कुछ उम्मीदवारों की योग्यता पर सवालिया निशान के कारण नहीं हो पाए।

पढ़ें: क्रिस गेल फॉर्म में रहे तो विंडीज विश्व कप में उलटफेर कर सकती है

मोहन डि सिल्वा और विक्रमरत्ने एसएलसी के पूर्व प्रमुख थिलंगा सुमतिपाला के गुट से हैं। मई में होने वाले चुनाव में सुमतिपाला के नामांकन को निशांत रणतुंगा ने चुनौती दी थी। निशांत एसएलसी के पूर्व सचिव और विश्व कप जीतने वाली श्रीलंका की टीम के कप्तान अर्जुन रणतुंगा के भाई हैं।

संसद सदस्य सुमतिपाला ने घोषणा की है कि वह एसएलसी के चुनाव नहीं लड़ेंगे। सुमतिपाल के विरोधी और अब उड्डयन मंत्री अर्जुन रणतुंगा ने भी उपाध्यक्ष पद के लिए नामांकन भरा है। वह प्रमुख उद्योगपति जयंत धर्मदास के गुट से हैं जो अध्यक्ष पद के लिए मैदान में हैं।

शम्मी सिल्वा भी अध्यक्ष पद के लिए चुनौती पेश कर रहे हैं।

(इनपुट-भाषा)