Sri Lanka cricket remains hopeful of Pakistan tour but will await the final call from defence ministry
श्रीलंका क्रिकेट टीम (Getty images)

लसिथ मलिंगा और दिमुथ करुणारत्ने समेत दस सीनियर खिलाड़ियों के नाम वापस लेने के बावजूद श्रीलंका क्रिकेट बोर्ड अब भी पाकिस्तान के सफल दौरे की उम्मीद लगाए बैठा है। हालांकि आगे कदम बढ़ाने से पहले एसएलसी को रक्षा मंत्रालय से अनुमति मिलने का इंतजार करना होगा।

श्रीलंका क्रिकेट सचिव मोहन डी सिल्वा ने कहा कि वो मेजबानों की सुरक्षा व्यवस्था से संतुष्ट थे, लेकिन पिछले सप्ताह मिली संभावित आतंकवादी हमले की रिपोर्ट, जिसे जांच के लिए रक्षा मंत्रालय भेज दिया गया है, उसके बाद फिलहाल इस दौरे पर रोक लगी हुई है।

साल 2009 में लाहौर में श्रीलंकाई टीम की बस पर हुए हमले के बाद ज्यादातर अंतरराष्ट्रीय टीम पाकिस्तान का दौरा करने के लिए तैयार नहीं है। हालांकि श्रीलंका टीम ने 2017 में पाकिस्तान के खिलाफ लाहौर में एक टी20 मैच खेला था।

‘भारत के धमकी देने की वजह से पाक दौरे पर नहीं आना चाहते हैं श्रीलंकाई खिलाड़ी’

डी सिल्वा ने एएफपी को दिए बयान में कहा, “पिछले महीने की शुरुआत में मैंने सुरक्षा दल के साथ पाकिस्तान का दौरा किया था और उनकी व्यवस्थाओं से संतुष्ट था। उन्होंने राज्य के प्रमुख के लिए आरक्षित सुरक्षा का वादा किया है।”

हालांकि श्रीलंका क्रिकेट ने अब तक दौरा रद्द नहीं किया है लेकिन मामले को सरकार के सामने रख उनसे आखिरी फैसला करने की मांग की है। श्रीलंका टीम को 27 सितंबर से तीन टी20 और तीन वनडे मैचों के दौरे के लिए पाकिस्तान जाना है।