×

ऑस्ट्रेलिया को इतनी बुरी हार देने वाली पहली टीम बनी श्रीलंका, जयसूर्या और चांदीमल ने रचा इतिहास

ऑस्ट्रेलिया ने पहला टेस्ट 10 विकेट से जीता था और इस तरह 2 मैचों की सीरीज 1-1 की बराबरी पर छूटी।

ICC

श्रीलंका ने टेस्ट क्रिकेट में वो कारनामा कर दिखाया जो बड़ी से बड़ी टीमें भी आज तक नहीं कर पाई। श्रीलंका ने गाले में खेले गए दूसरे टेस्ट में ऑस्ट्रेलिया को पारी और 39 रनों से हराने के साथ ही इतिहास रच दिया। दूसरे टेस्ट में चौथे दिन यानी 11 जुलाई को श्रीलंका ने प्रभाथ जयसूर्या की कमाल की गेंदबाजी से ऑस्ट्रेलिया को दूसरी पारी में 151 रन पर ढेर कर दिया।

ऑस्ट्रेलिया ने पहली पारी में 364 रनों का स्कोर खड़ा किया था। इस तरह ऑस्ट्रेलिया टेस्ट क्रिकेट के इतिहास में पहली बार 350 से ज्यादा रनों का स्कोर पहली पारी में खड़ा करने के बावजूद हार गई। बता दें, ऑस्ट्रेलिया ने पहला टेस्ट 10 विकेट से जीता था और इस तरह 2 मैचों की सीरीज 1-1 की बराबरी पर छूटी।

श्रीलंका की ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट में ये महज पांचवीं और पारी से मिली पहली जीत है। इससे पहले लंका ने पिछला टेस्ट साल 2016 में कंगारू टीम के खिलाफ जीता था।

श्रीलंका की जीत के सबसे बड़े हीरो रहे 30 साल के फिरकी गेंदबाज प्रभाथ जयसूर्या जिन्होंने अपने पहले ही टेस्ट में 12 विकेट लेकर इतिहास रच दिया। बाएं हाथ के स्पिन गेंदबाज प्रभाथ ने पहली पारी में 118 रन देकर 6 विकेट अपने नाम किए और फिर दूसरी पारी में 59 रन देकर 6 विकेट चटकाए। इसके साथ ही प्रभाथ जयसूर्या टेस्ट क्रिकेट में 12 विकेट लेने वाले दुनिया के 5वें गेंदबाज बन गए। यही नहीं, 2008 के बाद ऐसा करने वाले वह पहले गेंदबाज हैं। डेब्यू टेस्ट में सबसे ज्यादा विकेट लेने का रिकॉर्ड भारत के नरेंद्र हिरवानी के नाम है जिन्होंने 1988 में चेन्नई में वेस्टइंडीज के खिलाफ भारत कुल 16 विकेट लेकर सनसनी मचा दी थी।

श्रीलंका ने पहली पारी में 554 रनों का स्कोर खड़ा किया जिसमें दिनेश चांदीमल की नाबाद दोहरा शतक शामिल रहा। चांदीमल ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ दोहरा शतक बनाने का बड़ा कारनामा करने वाले पहले श्रीलंकाई बल्लेबाज हैं। दिनेश चांदीमल ने 326 गेंदों पर 16 चौके और 5 छक्कों की मदद से नाबाद 206 रनों की पारी खेली। चांदीमल का ये दोहरा शतक ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ किसी भी श्रीलंकाई बल्लेबाज का सर्वश्रेष्ठ व्यक्तिगत स्कोर है। उन्होंने कुमार संगकारा द्वारा 2007 में होबार्ट में बनाए गए 192 रन के स्कोर को पीछे छोड़ा।

 

trending this week