श्रीलंकाई बल्लेबाज एंजेलो मैथ्यूज ने कप्तानी पारी खेलते हुए 57 रन बनाए © AFP
श्रीलंकाई बल्लेबाज एंजेलो मैथ्यूज ने कप्तानी पारी खेलते हुए 57 रन बनाए © AFP

प्रेमदासा स्टेडियम में हुए दूसरे अंतर्राष्ट्रीय एकदिवसीय मैच में बुधवार को श्रीलंका ने ऑस्ट्रेलिया को 82 रनों से मात दे दी और पांच मैचों की श्रृंखला में 1-1 से बराबरी कर ली। ऑस्ट्रेलियाई टीम श्रीलंका से मिले 289 रनों के लक्ष्य के जवाब में 47.2 ओवरों में 206 रन बनाकर ढेर हो गई। श्रीलंका को जीत दिलाने में करियर का दूसरा एकदिवसीय मैच खेल रहे अमिला अपोंसो और थिसारा परेरा की भूमिका अहम रही। अपोंसो ने चार विकेट हासिल किए, जबकि परेरा ने तीन अहम विकेट चटकाए। श्रीलंका के कप्तान एंजेलो मैथ्यूज को उनके हरफनमौला प्रदर्शन के लिए मैन ऑफ द मैच चुना गया। मैथ्यूज ने एक समय संकट में घिर चुकी श्रीलंकाई पारी को 57 रनों की पारी से उबारा और गेंदबाजी करते हुए दो विकेट भी हासिल किए।

289 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी ऑस्ट्रेलियाई पारी की शुरुआत खराब रही। थिसारा परेरा ने अपने शुरुआती दो ओवरों में ऑस्ट्रेलिया के दोनों सलामी बल्लेबाजों डेविड वार्नर (1) और एरॉन फिंच (4) को चलता कर दिया। कप्तान स्टीवन स्मिथ (30) भी खास योगदान नहीं दे सके। जॉर्ज बेली (27) और मैथ्यू वेड (76) ने जरूर 61 रनों की साझेदारी कर ऑस्ट्रेलियाई पारी को संवारने की कोशिश की, लेकिन इस प्रयास में वे रन रेट तेज नहीं रख पाए। वेड ऑस्ट्रेलिया के सर्वोच्च स्कोरर रहे। वेड ने ट्रेविस हेड (31) के साथ छठे विकेट के लिए 64 रनों की एक और अहम साझेदारी निभाई। लेकिन वे टीम की हार को बचा नहीं सके। थिसारा परेरा ने 182 के कुल योग पर वेड का अहम विकेट चटकाकर ऑस्ट्रेलिया की रही सही उम्मीद पर भी पानी फेर दिया। वेड के आउट होने के बाद ऑस्ट्रेलिया ने अगले 7.2 ओवरों में 24 रन जोड़ने में अपने शेष चार विकेट गंवा दिए।

इससे पहले, टॉस जीतकर बल्लेबाजी करने उतरी श्रीलंकाई टीम ने कुशल मेंडिस (69), कप्तान एंजेलो मैथ्यूज (57) और कुशल परेरा (54) की अर्धशतकीय पारियों के बल पर 288 रनों का चुनौतीपूर्ण स्कोर खड़ा किया, हालांकि श्रीलंकाई टीम भी पूरे 50 ओवर नहीं खेल सकी और सात गेंद पहले ही धराशायी हो गई। ऑस्ट्रेलिया को मिशेल स्टार्क और नेथन लॉयन ने शानदार शुरुआत दिलाई और 12 के कुल योग पर श्रीलंका के दोनों सलामी बल्लेबाजों दानुष्का गुणातिलका (2) और तिलकरत्ने दिलशान (10) को चलता कर दिया। हालांकि इसके बाद कुशल मेंडिस ने दिनेश चांडिमल (48) के साथ टीम को जबरदस्त वापसी दिलाई और अगले 21 ओवरों में 5.95 के औसत से 125 रन जोड़ डाले। चांडिमल अपना अर्धशतक पूरा नहीं कर सके और एडम जाम्पा की गेंद पर एलबी डब्लू हो गए।

टीम के स्कोर में अभी नौ रन ही जुड़े थे कि कुशल मेंडिस भी जाम्पा का दूसरा शिकार हो पवेलियन लौट गए। कुशल मेंडिस ने 69 गेंदों में नौ चौके लगाए, जबकि चांडिमल ने 67 गेंदों की अपनी पारी में दो चौके और एक छक्का जड़ा। श्रीलंका को जल्द ही धनंजय डी सिल्वा (7) का विकेट भी गंवाना पड़ा। इसके बाद लेकिन कप्तान मैथ्यूज ने कुशल परेरा के साथ छठे विकेट के लिए 103 रनों की एक और बेहतरीन साझेदारी कर टीम को मजबूत स्थिति में पहुंचा दिया।

हालांकि श्रीलंकाई टीम ने आखिरी की 18 गेंदों पर 27 रन जोड़ने में पांच विकेट गंवा दिए। इसके लिए जेम्स फॉकनर की हैट्रिक जिम्मेदार रही। फॉकनर ने पहले कुशल परेरा और फिर कप्तान मैथ्यूज और थिसारा परेरा को आउट कर अपनी हैट्रिक पूरी की। ऑस्ट्रेलिया के लिए स्टार्क, फॉकनर और जाम्पा ने तीन-तीन विकेट चटकाए।