Sri Lankan coach Mickey Arthur is busy in introspection and preparing future plans
मिकी आर्थर (IANS)

श्रीलंका के कोच मिकी आर्थर कोरोना वायरस की वजह से क्रिकेट से मिले ब्रेक का इस्तेमाल टीम के साथ बिताए गए पिछले तीन महीनों का आकलन और भविष्य की योजनाएं तैयार करने के लिए कर रहे हैं।

कोरोना वायरस के कारण विश्व भर की खेल गतिविधियां ठप्प पड़ी हुई है। इस महामारी के कारण विश्व भर में अभी तक लगभग 70,000 लोगों की मौत हो चुकी है। ऐसे में आर्थर और उनके कोचिंग स्टाफ को आत्ममंथन का समय मिल गया है।

आर्थर ने श्रीलंका क्रिकेट से कहा, ‘‘हम इस समय का उपयोग पिछले तीन महीने के हमारे कार्यकाल का आकलन करने और अपने व्यक्तिगत और टीम योजनाओं को तैयार करने के लिए कर रहे हैं क्योंकि साल के आखिर में हमें महत्वपूर्ण सीरीज में भाग लेना है। हम टीम की तैयारियों तथा हर फॉर्मेट में टीम के लिए तय किए लक्ष्यों को हासिल करने के लिए खिलाड़ियों का अपने खेल में सुधार करने और उनकी इच्छाशक्ति से बहुत खुश हैं।’’

आईपीएल नहीं टी20 विश्व कप का आयोजन चाहते हैं पैट कमिंस

विश्व भर की सरकारों के सामाजिक दूरी बनाए रखने की अपील के कारण खेल प्रतियोगिताएं नहीं चल रही और ऐसे में आर्थर उनका स्टाफ अपनी टीम के अलावा विदेशी टीमों के खिलाड़ियों और उनके प्रदर्शन का भी आकलन कर रहे हैं।

आर्थर ने कहा, ‘‘इससे हमारे कोचिंग स्टाफ को पिछले प्रदर्शन का आकलन करने के अलावा खिलाड़ियों के लिए रणनीति, भूमिकाएं और लक्ष्य तय करने का भी मौका मिला है। हम उन विपक्षी टीमों का भी आकलन कर रहे हैं जिनके खिलाफ अगले साल तक हमें खेलना है।’’

श्रीलंका को इंग्लैंड के खिलाफ अपनी घरेलू टेस्ट सीरीज रद्द करने लिए मजबूर होना पड़ा था। आर्थर ने कहा, ‘‘ये वास्तव में निराशाजनक है कि हम इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज नहीं खेल पाए। मुझे लगता है कि जिम्बाब्वे दौरे में हमारी टेस्ट टीम को काफी कुछ सीखने को मिला। जिम्बाब्वे दौरा काफी कड़ा था और वहां जिस तरह की परिस्थितियां थी उनमें सीरीज जीतने के लिए हमें काफी अनुशासित क्रिकेट खेलनी पड़ी।’’