Sri Lankan cricketers were vomiting after fielding in smoggy Delhi: Nic Pothas
दिल्ली में स्मॉग की वजह से श्रीलंकाई क्रिकेटरों की तबियत खराब हो गई © AFP

भारत बनाम श्रीलंका, दिल्ली टेस्ट के दूसरे दिन स्मॉग की वजह से कई बार मैच रोका गया और आखिरकार विराट कोहली ने 536/7 पर पारी घोषित कर श्रीलंका को बल्लेबाजी का मौका दिया। सोशल मीडिया पर इस वजह से श्रीलंकाई खिलाड़ियों की काफी आलोचना की गई। अपने क्रिकेटरों का बचाव करते हुए श्रीलंकाई कोच निक पोथास ने कहा कि दिल्ली में स्मॉग काफी घातक था और इसी वजह से खिलाड़ियों को मास्क पहनकर मैदान पर उतरना पड़ा। पोथास ने ये भी कहा कि कई खिलाड़ी फील्डिंग के दौरान मैदान के बाहर जाकर उल्टियां कर रहे थे।

मैच को छोड़ प्रदूषण पर ध्यान दे रहे थे श्रीलंकाई क्रिकेटर: भरत अरुण
मैच को छोड़ प्रदूषण पर ध्यान दे रहे थे श्रीलंकाई क्रिकेटर: भरत अरुण

दिन का खेल खत्म होने के बाद मीडिया के बात करते हुए पोथास ने कहा, “हमारे खिलाड़ी मैदान से बाहर आकर उल्टियां कर रहे थे। ड्रेसिंग रूम में ऑक्सीजन सिलेंडर रखे गए थे। खिलाड़ियों के लिए मैच के दौरान इस तरह के हालात का सामना करना साधारण नहीं है। मुझे लगता है कि ये पहला मौका है जब सभी ने इस तरह की स्थिति को देखा है। प्रदूषण को लेकर बहुत ज्यादा नियम नहीं है। हम कल क्या करेंगे ये फैसला मैच रेफरी करेंगे। आज रात वे बैठक करेंगे और ये तय करेंगे कि कल भी यही स्थिति होने पर क्या किया जा सकता है।” पोथास ने बताया कि सुरंगा लकमल की तबियत काफी बिगड़ी है और वह ड्रेसिंग रूम में भी लगातार उल्टियां कर रहे थे।

बेकार विवाद बना रहे हैं श्रीलंकाई खिलाड़ी: सीके खन्ना

दिल्ली टेस्ट के दौरान हुए इस पूरे मामले पर बीसीसीआई के कार्यकारी अध्यक्ष सीके खन्ना का मत श्रीलंकाई कोच से एकदम अलग है। खन्ना ने कहा कि विपक्षी टीम इसे बेकार ही बड़ा मुद्दा बना रही है। उन्होंने बयान दिया कि, “अगर स्टेडियम में बैठे 20,000 दर्शकों और टीम इंडिया को कोई परेशानी नहीं है तो मुझे हैरानी है कि श्रीलंका टीम क्यों इसे इतना बड़ा मुद्दा बना रही है। बता दें कि डबल्यूएचओ ने दिल्ली को दुनिया के सबसे प्रदूषित शहरों की सूची में जगह दी है। देश की इस राजधानी में डबल्यूएचओ के मानक से 40 गुना ज्यादा प्रदूषण हैं।