Steve Smith on South Africa return: last time I left here it wasn’t pretty
स्टीव स्मिथ © Getty Images

सितंबर 2018 में हुए बॉल टैंपरिंग विवाद की वजह से स्टीव स्मिथ को ना केवल एक साल का बैन झेलना पड़ा था, बल्कि उन्हें दो साल तक ऑस्ट्रेलियाई टीम की कप्तानी ना करने की सजा भी मिली थी। लेकिन सैंडपेपर गेट के बाद पहली बार दक्षिण अफ्रीका पहुंचे स्मिथ के मुताबिक वहां के लोग ‘बहुत अच्छे’ हैं।

जोहान्सबर्ग के न्यू वांडरर्स स्टेडियम, जहां खेले गए टेस्ट मैच में ऑस्ट्रेलियाई टीम के सलामी बल्लेबाज कैमरून बैनक्रॉफ्ट कैमरे पर गेंद से छेड़खानी करते पकड़े गए थे, में होने वाले टी20 मैच से पहले स्मिथ ने कहा, “केवल सैंडटन में अपने होटल तक जाते हुए, शुरुआत में मुझे लग रहा था कि ‘इससे पहले जब मैं यहां था तो चीजें अच्छी नहीं रही थीं’। वो मेरे जिंदगी का सबसे अच्छा समय नहीं था लेकिन मैं उससे आगे बढ़ चुका हूं और बहुत कुछ सीख चुका हूं।”

बॉल टैंपरिंग विवाद के बाद कंगारू टीम के कोच का पद संभालने वाले जस्टिन लैंगर ने कहा कि इंग्लैंड में आयोजित हुए विश्व कप के दौरान स्मिथ और डेविड वार्नर का ड्रेस रिहर्सल हो चुका है और अब वो इससे आगे बढ़ चुके हैं। याद दिला दें कि विश्व कप के दौरान स्मिथ और वार्नर को फैंस की ओर से काफी हूटिंग का सामना करना पड़ा था।

‘दक्षिण अफ्रीका में छींटाकशी से प्रेरित होकर और बेहतर खेलेंगे स्मिथ-वार्नर’

स्मिथ ने आगे कहा, “लोग बहुत अच्छे हैं। मुझे खास फर्क नहीं पड़ता है। जस्टिन (कोच जस्टिन लैंगर) ने इंग्लैंड में ड्रेस रिहर्सल को लेकर कुछ कहा था। ईमानदारी से कहूं तो बल्लेबाजी करते हुए मैंने इस (हूटिंग) पर ध्यान नहीं दिया। ये केवल शब्द हैं, मुझे उनसे फर्क नहीं पड़ता। लोग कुछ कहना चाहते हैं, अच्छा है, लोग कुछ नहीं कहना चाहते, वो भी अच्छा है। ये उनका मत है, लोग अगर कुछ कहना चाहते हैं तो कहें।”

दक्षिण अफ्रीका में क्रिकेट खेलने के अनुभव पर स्मिथ ने कहा, “मेरे पास यहां खेलने की काफी अच्छी यादें हैं। 2014 की टेस्ट सीरीज शानदार थी और 2012 में यहां चैंपियंस ट्रॉफी जीतना। लोग बहुत अच्छे हैं। लोग मेरे पास फोटो खिंचवाने के लिए आते हैं और ये अच्छी है। कुछ भी बदला नहीं है।”