कन्कशन की वजह से लीड्स टेस्ट से बाहर हुए ऑस्ट्रेलियाई शीर्ष क्रम बल्लेबाज स्टीव स्मिथ डर्बीशायर के खिलाफ होने वाले टूर मैच में हिस्सा लेने को तैयार हैं। ये तीन दिवसीय मैच 29 से 31 अगस्त तक खेला जाएगा।

लॉर्ड्स टेस्ट में इंग्लिश तेज गेंदबाज जोफ्रा आर्चर की गेंद गर्दन पर लगने के बाद चोटिल हुए स्मिथ शनिवार को पहली बार नेट्स में उतरे। क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया की रिपोर्ट के मुताबिक स्मिथ ने टीम के सहायक कोच ग्रीम हिक और श्रीधरन श्रीराम के थ्रो डाउन्स का सामना किया। गौरतलब है कि स्मिथ ने नेट में किसी तेज गेंदबाज का सामना नहीं किया।

स्मिथ के नेट सेशन के दौरान टीम के डॉक्टर रिचर्ड सॉ ने इस बल्लेबाज पर करीबी नजर बनाए रखी। बल्लेबाजी के अलावा स्मिथ ने मैदान पर दौड़ लगाई और कुछ हल्की ड्रिल्स भी की। आखिर में फील्डिंग कोच ब्रैड हैडिन ने उन्हें कैच प्रेक्टिस करवाई और इसी के साथ स्मिथ का नेट सेशन खत्म हुआ।

विराट-रहाणे के अर्धशतकों से 260 रन की बढ़त पर भारत

सेशन के दौरान स्मिथ किसी तरह सके दर्द या तकलीफ में नहीं दिखे। उम्मीद है कि वो गुरुवार से होने वाले टूर मैच में हिस्सा ले सकेंगे, जहां उनका सामना इंग्लैंड के सीनियर तेज गेंदबाज जेम्स एंडरसन से हो सकता है। एंडरसन, जो कि कॉफ इंजरी की वजह से टेस्ट सीरीज से बाहर हैं, टूर मैच में डर्बीशायर के लिए खेलेंगे।

स्मिथ के टूर मैच में हिस्सा लेने से उनके चौथे एशेज टेस्ट में लौटने की संभावना और बढ़ जाएगी।

इस पर कोच जस्टिन लैंगर ने कहा, “ये स्मिथ के लिए नेट में थ्रो डाउन्स खेलकर अभ्यास करने से बेहतर रहेगा। ये अच्छा काम कर सकता है। हमें पता है कि वो कैसा है, इसलिए डर्बीशायर के गेंदबाज ध्यान रखें। इससे उसके खिलाफ थ्रो डाउन्स कराने का हमारा समय बचेगा। मुझे यकीन है कि अगर वो जरूरी जांच में पास हो जाता है तो वो ये मैच खेलेगा।”