भारत के खिलाफ पहले दो टेस्ट मैचों की सीरीज में खास रन नहीं बना सके स्टीव स्मिथ (Steve Smith) की खराब फॉर्म के बारे में बात करते हुए ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज मार्नस लाबुशाने (Marnus Labuschagne) ने कहा है कि स्मिथ की खराब फॉर्म का मुख्य कारण कोविड-19 की वजह से पिछले सीजन में कम टेस्ट क्रिकेट खेलना है।

लाबुशाने ने मीडिया से बात करते हुए कहा, “उन्होंने ज्यादा रन नहीं किए हैं। उन्होंने काफी ज्यादा सफेद गेंद की क्रिकेट खेली है और उन्हें लाल गेंद से खेलने का ज्यादा समय नहीं मिला, लेकिन कोविड की स्थिति में ये हकीकत है।”

स्मिथ ने भारत के साथ जारी चार मैचों की टेस्ट सीरीज में अभी तक चार पारियों में 10 रन ही बनाए हैं। दो बार उन्हें ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन ने आउट किया है तो वहीं एक बार जसप्रीत बुमराह ने। बीते 12 महीनों में उन्होंने सिर्फ तीन टेस्ट मैच खेले हैं। इस सीरीज के दो टेस्ट मैचों के अलावा स्मिथ ने जनवरी-2020 के पहले सप्ताह में न्यूजीलैंड के खिलाफ एक टेस्ट मैच खेला था।

वहीं पिछले 12 महीनों में उन्होंने 10 वनडे खेले हैं और 568 रन बनाए हैं। नौ टी-20 मैचों में उनके बल्ले से 217 रन निकले हैं। स्मिथ इस साल आईपीएल में भी खेले। राजस्थान रॉयल्स के कप्तान ने 14 मैच खेले और बिग बैश लीग में सिडनी सिक्सर्स के लिए भी वो मैदान पर उतरे। कुल मिलाकर उन्होंने सफेद गेंद से 37 मैच खेले वहीं टेस्ट मैच सिर्फ तीन खेले।

लाबुशाने ने कहा कि स्मिथ के पास टेस्ट का अच्छा खासा अनुभव है और उन्होंने वनडे सीरीज में भारत के खिलाफ दो शतक जमाए हैं इसलिए उनकी फॉर्म चिंता का विषय नहीं है।

उन्होंने कहा, “स्मिथ का तकरीबन 80 (75) मैच खेलने के बाद 60 का औसत है। उन्होंने अपने करियर की शुरुआत से ही बताया कि वो कितने निरंतर हैं। वो बोर्ड पर रन बनाते हैं। जैसा मैंने कहा, आप चाहें जो कहें लेकिन ज्यादा दिन नहीं हुए उन्होंने तकरीबन 60 गेंदों पर दो शतक बनाए थे।”