Steve Waugh believes Australian public will still adore Steven Smith
Steven Smith © Getty Images

बॉल टैंपरिंग मामले में एक साल का बैन झेल लग रहे ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर स्टीवन स्मिथ घरेलू जमीन पर क्रिकेट खेलने जा रहे हैं। स्मिथ इस हफ्ते शुरू होने वाले सिडनी प्रीमियर क्रिकेट कॉम्पटीशन में सदरलैंड की ओर से खेलेंगे। पूर्व क्रिकेटर स्टीव वॉ को उम्मीद है कि लंबे समय बाद घरेलू फैंस के सामने खेलने जा रहे स्मिथ को शानदार स्वागत मिलेगा।

वॉ ने फॉक्स स्पोर्ट्स न्यूज से बातचीत में कहा, “मुझे लगता है कि वो अब भी उसे प्यार करते हैं। ऑस्ट्रेलियाई जनता माफ कर देती है। उसने गलती की और उसकी बड़ी कीमत भी चुकाई। लेकिन अगर वो वहां वापस जा रहा है और उसी उत्साह के साथ खेल रहा है, उसे क्रिकेट से प्यार है, उसे रन बनाने से प्यार है, वो फिर से ऑस्ट्रेलिया के लिए खेलना चाहता है, तो मुझे लगता है कि ऑस्ट्रेलियाई जनता पुरानी बातों से आगे बढ़ जाएगी।”

पूर्व टेस्ट दिग्गज ने आगे कहा, “जाहिर है उन्हें सब याद है लेकिन वो ये समझते हैं कि आप गलती कर सकते हैं और उससे आगे बढ़कर और मजबूत बन सकते हैं। हमें ऑस्ट्रेलियाई टीम में उसकी जरूरत है। आप उसके जैसे खिलाड़ी को एक रात में खोकर किसी और के उसकी जगह लेने की उम्मीद नहीं कर सकते हैं और वो अब भी युवा है।”

स्मिथ के साथ बॉल टैंपरिंग मामले में बैन हुए डेविड वार्नर भी इस टूर्नामेंट में हिस्सा ले रहे हैं। वार्नर रैंडविक-पीटरशेम के लिए खेलेंगे। वहीं इस मामले में बैन हुए तीसरे खिलाड़ी कैमरून बैनक्रॉफ्ट भी कई घरेलू टूर्नामेट्स में खेल रहे हैं। वॉ ने माना कि राष्ट्रीय टीम में वापसी तीनों खिलाड़ियों के लिए घरेलू टूर्नामेंट में खेलने से कहीं ज्यादा कठिन होगी। उन्होंने कहा, “उनके लिए टीम में वापसी करना बड़ी चुनौती होगी। जितना आप सोचते हैं ये उतना आसान नहीं होता। आप 12 महीनों से खेल से बाहर हैं, खेल तो आगे बढ़ रहा है। ऐसे में आप अपना अजेय होने का आत्मविश्वास खो देते हैं, आप थोड़े और कमजोर हो जाते हैं, अपनी काबिलियत पर शक करने लगते हैं। इन खिलाड़ियों के लिए टीम में मजबूत वापसी करना असली चुनौती होगी।”

वॉ ने कहा कि बॉल टैंपरिंग से नाम जुड़ने के बाद तीनों खिलाड़ियों को हर दिन इससे जुड़े सवाल झेलने होंगे। उन्होंने कहा, “एक और चीज है जिसके लिए इन लड़कों को तैयार रहना होगा, उन्हें इस बात के लिए तैयार रहना होगा कि उनकी जिंदगी के हर दिन में कोई ना कोई इस बात का जिक्र जरूर करेगा। चाहे वो सही हो या गलत लेकिन ये होगा जरूर। अगर आप उस स्थिति को नहीं झेल पाते हैं और आगे नहीं बढ़ पाते हैं तो काफी मुश्किल होगी।”