Steve Waugh: Shane Warne’s comments don’t need a response
Steve-Waugh © Getty Images (file photo)

ऑस्‍ट्रेलिया क्रिकेट टीम के पूर्व कप्‍तान स्‍टीव वॉ ने  कहा है कि हमवतन पूर्व लेग स्पिनर शेन वॉर्न  के बयान पर कोई जवाब देने की जरूरत नहींं हैैै।

वार्न के मुताबिक जब वो खेलते थे उस समय पूर्व कप्तान स्टीव वॉ सबसे ज्यादा स्वार्थी खिलाड़ी थे। वार्न के किताब ‘नो स्पिन’ के कुछ अंश में पूर्व ऑस्ट्रेलियाई कप्तान स्टीव वॉ के बारे में जिक्र है। इसमें उन्होंने लिखा है कि अब तक जितने भी खिलाड़ियों के साथ वह खेले स्टीव वॉ सबसे ज्यादा स्वार्थी थे।

वॉर्न को वेस्टइंडीज के खिलाफ साल 1999 में टीम से बाहर किए जाने की घटना अब तक उनके जेहन में है। इस बारे में उनका कहना था, प्लेइंग इलेवन में शामिल नहीं कर मुझे काफी निराश किया गया था। शेन वॉर्न ने वॉ को सबसे स्वार्थी कप्तान बताते हुए कहा उनको सिर्फ अपने 50 के औसत की चिंता रहती थी।

वेस्टइंडीज के दौरे पर स्टीव वॉ को कप्तान बनाया गया था और वॉर्न को उप कप्तान। ऑस्ट्रेलिया ने पहला टेस्ट 312 रन से जीता था। इसके बाद लगातार दो टेस्ट में ब्रायन लारा के शानदार शतक की बदौलत टीम ने जोरदार वापसी की। सीरीज के आखिरी मुकाबले से पहले विंडीज टीम के पास 2-1 की बढ़त थी। तीन टेस्ट में वॉर्न ने सिर्फ 2 विकेट हासिल किए थे।

स्‍टीव वॉ ने गुरुवार को कहा कि उन्‍हें इसपर कोई जवाब देने की जरूरत नहीं है। एबीसी न्‍यूज ब्रेकफास्‍ट में वॉ ने कहा, ‘ मुझे नहीं लगता कि वॉर्न की प्रतिक्रिया पर मुझे कोई जवाब देने की जरूरत है।’

वॉर्न को टेस्‍ट टीम से बाहर किए जाने के बारे में वॉ ने कहा, ‘ बतौर कप्‍तान मैंने ये फैसला लिया था। मैंने ऐसा टीम हित के लिए किया था। शेन वॉर्न के साथ मेरा रिश्‍ता अच्‍छा था। बतौर कप्‍तान टीम हित के लिए कभी-कभी आपको कड़े फैसले लेने पड़ते हैं।’