Steve Waugh was the most selfish player I ever played with says Shane Warne
Shane Warne was dropped for the fourth Test against West Indies in 1999 by skipper Steve Waugh. @ Getty Images

ऑस्ट्रेलिया के दिग्गज स्पिनर शेन वार्न के मुताबिक पूर्व कप्तान स्टीव वॉ सबसे ज्यादा स्वार्थी खिलाड़ी थे। वार्न के किताब के कुछ अंश में पूर्व ऑस्ट्रेलियाई कप्तान स्टीव वॉ के बारे में जिक्र है। इसमें उन्होंने लिखा है कि अब तक जितने भी खिलाड़ियों के साथ वह खेले स्टीव वॉ सबसे ज्यादा स्वार्थी थे।

वेस्टइंडीज के खिलाफ साल 1999 में टीम से बाहर किए जाने की घटना अब तक उनके लिए बिल्कुल ताजा है। इस बारे में उनको कहना था, प्लेइंग इलेवन में शामिल नहीं कर मुझे काफी निराश किया गया था। शेन वार्न ने वॉ को सबसे स्वार्थी कप्तान बताते हुए कहा उनको सिर्फ अपने 50 के औसत की चिंता रहती थी।

वेस्टइंडीज के दौरे पर स्टीव वॉ को कप्तान बनाया गया था और उनको उप कप्तान। ऑस्ट्रेलिया ने पहला टेस्ट 312 रन से जीता था। इसके बाद लगातार दो टेस्ट में ब्रायन लारा के शानदार शतक की बदौलत टीम ने जोरदार वापसी की। सीरीज के आखिरी मुकाबले से पहले विंडीज टीम के पास 2-1 की बढ़त थी। तीन टेस्ट में वार्न ने सिर्फ 2 विकेट हासिल किए थे।

वार्न ने किताब में लिखा, ”मैं टीम का उप-कप्तान था और बेहद साधारण गेंदबाजी कर रहा था। टीम चयन में हम दोनों के अलावा कोच ज्योफ मार्श मौजूद थे। उन्होंने मुझे कहा, ”आखिरी टेस्ट से आपको बाहर बैठना पड़ेगा।”

मैंने पूछा क्यों, ”जवाब मिला आप अच्छा नहीं कर रहे हैं दोस्त। हां, सही है मैं मानता हूं, सर्जरी के बाद मेरा कंधा उम्मीद से ज्यादा वक्त ले रहा है लेकिन मुझे लगता है धीरे-धीरे सब ठीक हो रहा है और मैं जल्दी लय में आ जाउंगा। मैं चिंतित नहीं हूं दोस्त।”

एलन बॉर्डर जो उस वक्त चयन समिति का हिस्सा थे उन्होंने तब वार्न का साथ दिया था। ”मैं हर वक्त वार्न के साथ हूं। सोचो ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट के लिए वार्न ने क्या किया है। हमें उनपर भरोसा दिखाना होगा।”

इसके बाद भी वॉ ने उनको टीम में नहीं रखा। उनका कहना था ”एबी मैं आपके विचार का सम्मान करता हूं लेकिन वार्न नहीं खेल सकते हैं। मैं अपने गट्स पर जाना चाहूंगा, माफ कीजिए”