Steven Smith on ball-tampering: I had the opportunity to stop it and I didn’t do it
Steve Smith (AFP)

गेंद से छेड़छाड़ मामले में एक साल का बैन लगने के बाद मार्च में की भावुक प्रेस कॉन्फ्रेंस के बाद स्टीवन स्मिथ पहली बार मीडिया के सामने आए। पूर्व ऑस्ट्रेलियाई कप्तान ने सिडनी में संवादाताओं से बातचीत में कबूला कि उनके पास बॉल टैंपरिंग को रोकने का मौका था, पर वो ऐसा करने में नाकाम रहे और ये उनकी कप्तानी की असफलता थी।

सिडनी मॉर्निंग हेराल्ड ने स्मिथ के हवाले से लिखा, “मैं उस चीज से होकर गुजर गया और मेरे पास उसे रोकने का मौका था और मैने कुछ नहीं किया। वो मेरी कप्तानी की असफलता थी। कुछ होने की संभावना थी और वो मैदान पर हो गया। एक समय पर मेरे पास उसे रोकने का मौका था।”

विराट कोहली में महान बल्लेबाजों की सारी खूबी हैं: डेनिस लिली

दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ न्यूलैंड्स टेस्ट के तीसरे दिन ऑस्ट्रेलिया के सलामी बल्लेबाज कैमरून बैनक्रॉफ्ट सैंडपेपर के जरिए गेंद से छेड़छाड़ करते कैमरे पर पकड़े गए। दिन का खेल खत्म होने के बाद स्मिथ ने मीडिया के सामने नेतृत्व समूह की गलती मानी। जिसके बाद बैनक्रॉफ्ट के साथ कप्तान स्मिथ और उप कप्तान डेविड वार्नर पर भी बैन लगाया गया।

डेनिस लिली को जैफ थॉमसन की याद दिलाते हैं जसप्रीत बुमराह

स्मिथ ने आगे कहा, “जो हुआ वो अच्छे से रिकॉर्ड किया जा चुका है। कमरे (ड्रेसिंग रूम) में मैंने कुछ होता देखा लेकिन मैं आगे निकल गया, मेरे पास उसे रोकने का मौका था लेकिन मैंने ऐसा नहीं किया और ये मेरी नेतृत्व क्षमता की असफलता थी। इससे कुछ होने की संभावना थी और मैदान पर वो हुआ भी। मेरे पास ये कहने कि बजाय कि मैं इसके बारे में कुछ नहीं जानता, इसे होने से रोकने का मौका था। वो मेरी कप्तानी की असफलता था और मैं उसकी जिम्मेदारी लेता हूं।”

मुश्किल समय में परिवार ने संभाला

क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के लगाए एक साल के बैन के दौरान स्मिथ को कई मानसिक परेशानियों से गुजरना पड़ा। इस बारे में बात करते हुए उन्होंने कहा, “मैं अभी ठीक हूं। मैंने कई मुश्किल दिन देखे, कई उतार-चढ़ाव देखे। लेकिन मैं बहुत खुशकिस्मत हूं कि मेरे आसपास मेरी करीबी लोग थे, जिन्होंने मुश्किल में मेरा साथ दिया। कई ऐसे मुश्किल दिन थे जब मैं बिस्तर से उठना भी नहीं चाहता था। लेकिन मेरे करीबी लोगों में मुझे समझाया कि ये ठीक है। मैंने गलत की और ये बहुत बड़ी गलती थी और मैं आगे बढ़ने की कोशिश कर रहा हूं और बेहतर होने की कोशिश कर रहा हूं।”