स्टुअर्ट ब्रॉड  © Getty Images
स्टुअर्ट ब्रॉड © Getty Images

स्टुअर्ट ब्रॉड ने इंग्लैंड के महान ऑलराउंडर इयान बॉथम के टेस्ट विकटों के रिकॉर्ड को पीछे छोड़ दिया है और अब वह इंग्लैंड की ओर से दूसरे नंबर पर सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज बन गए हैं। सर इयान बॉथम के नाम टेस्ट में 383 विकेट दर्ज हैं। ब्रॉड ने बर्मिंघम टेस्ट में वेस्टइंडीज के विकेटकीपर बल्लेबाज शेन डाउरिच को आउट करते हुए टेस्ट में अपनी 384वीं सफलता अर्जित की और इसके साथ ही ये बड़ा रिकॉर्ड अपने नाम कर डाला।

पूर्व ऑलराउंडर इयान बॉथम ने ब्रॉड की इस उपलब्धि को शानदार बताया। बॉथम ने कहा, “मुझे लगता है कि यह शानदार है। अगर आप इस रिकॉर्ड को मुकम्मल करने वाले थे, तो सवाल सिर्फ इतना था कि कब, लेकिन आप शायद इसे यहां मुकम्मल करना चाहेंगे, खासतौर पर माहौल को देखते हुए।” 1984 के बाद से यह पहला मौका है जब बॉथम इंग्लैंड की ओर से सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले खिलाड़ियों में टॉप 2 में नहीं हैं। इंग्लैंड की ओर से टेस्ट में सबसे ज्यादा विकेट लेने का रिकॉर्ड जेम्स एंडरसन के नाम है। एंडरसन के नाम 491 टेस्ट विकेट हैं। बॉथम ने अपनी खुशी व्यक्त करते हुए कहा, “अगर एक हफ्ते के बाद लीड्स में यह कारनामा मुकम्मल किया जाता तो यह उतना मजेदार नहीं होता। यह बिल्कुल शानदार है।”

[ये भी पढ़ें: टेस्ट के बाद वनडे सीरीज में भी श्रीलंका को मात देना होगा टीम इंडिया का मकसद]

वहीं मैच के तीसरे दिन इंग्लैंड ने वेस्टइंडीज को पहली पारी में 168 रनों पर ऑलआउट कर दिया। इस तरह से वेस्टइंडीज इंग्लैंड के पहली पारी के 514/8 के स्कोर से 346 रन पिछड़ गई। चूंकि, पहली पारी के आधार पर लीड बहुत बड़ी थी इसलिए इंग्लैंड ने वेस्टइंडीज को फॉलोआन खिला दिया। फॉलोआन खेलते हुए वेस्टइंडीज टीम चौथी पारी में 45.4 ओवरों में 137 रनों पर ऑलआउट हो गई। इस तरह से इंग्लैंड ने मैच पारी और 209 नों से जीत लिया। मैच में जेम्स एंडरसन और स्टुअर्ट ब्रॉड ने 5-5 विकेट लिए। वहीं जोंस ने 4, बेन स्टोक्स ने 2 और मोईन अली ने 3 विकेट लिए। एलिस्टर कुक को उनकी शतकीय पारी के लिए मैन ऑफ द मैच से नवाजा गया।