Stuart Broad: Was angry, frustrated, gutted after omission from 1st Test against West indies
स्टुअर्ट ब्रॉड, जेम्स एंडरसन (File photo)

इंग्लैंड क्रिकेट टीम के सीनियर तेज गेंदबाज स्टुअर्ट ब्रॉड का कहना है वेस्टइंडीज के खिलाफ पहले टेस्ट में मौका ना मिलने से वो काफी निराश हुए थे। ब्रॉड को साउथम्पटन टेस्ट की प्लेइंग इलेवन में जगह नहीं गई है।

ब्रॉड ने कहा, “ये कहना कि मैं निराश था कम होगा, मैं परेशान था, गुस्से में थे और बेहद दुखी था। ये समझना मुश्किल है। पिछले कुछ सालों में मैंने अपनी सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी की है, मुझे लगा कि मेरी शर्ट छीन ली गई।”

जेम्स एंडरसन के बाद इंग्लैंड के सबसे सफल गेंदबाज ब्रॉड को वेस्टइंडीज केल खिलाफ तीन मैचों की टेस्ट सीरीज के लिए चुने गए 13 सदस्यीय स्क्वाड में जगह दी गई थी। लेकिन पहले मैच के लिए जोफ्रा आर्चर और मार्क वुड को ब्रॉड पर प्रायिकता दी गई।

ब्रॉड ने कहा, “मुझे मैच शुरू होने से एक दिन पहले शाम 6 बजे पता चला था। स्टोक्सी ने मुझसे कहा कि हम अतिरिक्त पेस वाली स्थिति के साथ जाएंगे।”

जेम्स एंडरसन ऐसा पहला गेंदबाज जो रिवर्स स्विंग को भी रिवर्स करता है : सचिन तेंदुलकर

प्लेइंग इलेवन से बाहर किए जाने पर ब्रॉड ने इंग्लैंड टीम के सेलेक्टर एड स्मिथ से बात की, जिन्होंने उनके सभी सवालों का जवाब दिया। ब्रॉड ने कहा, “मैं अपने भविष्य को आगे बढ़ाने के बारे में स्पष्टीकरण चाहता था और मुझे बहुत सकारात्मक प्रतिक्रिया दी गई थी।”

इंग्लिश क्रिकेटर ने कहा कि वो चयन को लेकर मैनेजमेंट की परेशानी को समझते हैं। उन्होंने कहा, “इस सीजन हम एक बेहद अनोखी स्थिति में हैं। कभी कभार ही ऐसा होता है जब हमारे सभी गेंदबाज फिट हों, अभी ऐसा ही है।”

उन्होंने कहा, “एक क्रिकेटर के रूप में मेरी ताकत और स्थायित्व का एक हिस्सा ये है कि मैं कई अहम मौकों पर फिट और चयन के लिए उपलब्ध रहा हूं। मुझे ऐसा लग रहा था कि मैं टीम में एक स्थान के योग्य हूं।”