सुनील गावस्कर और विराट कोहली © Getty Images
सुनील गावस्कर और विराट कोहली © Getty Images

टीम इंडिया के मुख्‍य कोच पद से अनिल कुंबले के इस्‍तीफे के बाद अब नया कोच कौन होगा ये सवाल हर भारतीय फैन के जहन में है। वीरेंद्र सहवाग, टॉम मूडी जैसे कई बड़े दिग्गज भारतीय टीम के कोच बनने की रेस में हैं, लेकिन इस बीच भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्‍तान सुनील गावस्कर ने कहा है कि अगर कप्तान की ही पसंद इतनी मायने रखती है तो फिर क्रिकेट एडवाइजरी कमेटी (सीएसी) की क्‍या जरूरत है।

आपको बता दें कि बीसीसीआई की क्रिकेट सलाहकार समिति में सचिन तेंदुलकर, सौरव गांगुली और वीवीएस लक्ष्मण हैं और इन्हीं पर नए कोच चुनने की ज़िम्मेदारी है। लंदन में चैंपियंस ट्रॉफी के दौरान इन तीनों ने कोहली और कुंबले से मुलाकात की थी, मुलाकात के बाद तीनों ने अनिल कुंबले को ही टीम का कोच बनाए रखने का सुझाव दिया था लेकिन सीएसी की बात को नकार दिया गया और कप्तान विराट कोहली से तल्ख रिश्तों के बाद अनिल कुंबले ने इस्तीफा दे दिया।

विराट कोहली के अनिल कुंबले के खिलाफ इस रवैये से सुनील गावस्कर काफी नाराज हुए। उन्‍होंने इतना तक कह दिया कि जब टीम के कप्तान की पसंद से ही कोच चुना जाना है तो फिर सीएसी की जरूरत क्‍या है। वेस्टइंडीज दौरे पर गए खिलाडि़यों और कप्तान कोहली से पूछ लें कि वे किसे कोच चाहते हैं। इससे काफी लोगों का समय बचेगा। ये भी पढ़ें: विराट कोहली-अनिल कुंबले विवाद पर चौंकाने वाला खुलासा

इससे पहले गावस्कर ने एनडीटीवी से बातचीत में खिलाड़ियों पर निशाना साधते हुए कहा था, “तो क्या आपको ऐसे लोग चाहिए जो आपसे कहें कि आज अभ्यास ना करें क्योंकि आपकी तबीयत ठीक नहीं है, छुट्टी लें और शॉपिंग करें। अगर कोई अपना काम सख्ती से करता है और उसे अच्छे नतीजे भी मिलते हैं जैसा कि कुंबले ने पिछले एक साल में कर दिखाया है। मेरा मानना है कि उन खिलाड़ियों को टीम से बाहर होना चाहिए।”