Supreme court will hear S Sreesanth’s life ban case on February 5
शांतकुमारन श्रीसंत © AFP

भारतीय तेज गेंदबाज शांताकुमारन श्रीसंत ने बीसीसीआई के लगाए बैन के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की है। सुप्रीम कोर्ट ने 5 फरवरी को श्रीसंत के मामले के सुनवाई की तारीख तय की है। बता दें कि इससे पहले श्रीसंत ने केरल हाईकोर्ट में इस मामले को उठाया था लेकिन कोर्ट ने बीसीआई के उन पर लगाए आजीवन बैन को जारी रखने का फैसला किया था, जिसके बाद श्रीसंत के पास केवल सुप्रीम कोर्ट जाने का रास्ता बचा था।

डरबन वनडे: फॉफ ड्यु प्लेसी के शतक की मदद से दक्षिण अफ्रीका ने भारत के सामने 270 रनों का लक्ष्य रखा
डरबन वनडे: फॉफ ड्यु प्लेसी के शतक की मदद से दक्षिण अफ्रीका ने भारत के सामने 270 रनों का लक्ष्य रखा

मुख्य जज दीपक मिश्रा के अगुवाई वाली बेंच के सामने इस मामले की सुनवाई होगी। बेंच के आधिकारिक बयान के मुताबिक, “इस मामले को पांच फरवरी को रोस्टर के मुताबिक उपयुक्त बेंच के सामने रखा जायेगा।’’ इससे पहले उच्च न्यायालय की एक बेंच ने 34 साल के इस तेज गेंदबाज पर सिंगल बेंच के उस फैसले को पलट दिया था जिसमें बीसीसीआई के लगाए गए आजीवन बैन को निरस्त किया गया था। श्रीसंत लगातार क्रिकेट के मैदान पर वापसी की कोशिश कर रहे हैं। कुछ समय पहले उन्होंने एक स्कॉटिश क्रिकेट लीग में शामिल होने का ऐलान किया था लेकिन भारतीय क्रिकेट बोर्ड के बैन के चलते वो इस लीग का हिस्सा नहीं बन सके।

साल 2013 में श्रीसंत के साथ अंकित चावण और अजीत चंडीला को स्पॉट फिक्सिंग का दोषी पाया गया था। जिसके दो साल बाद 2015 में पटियाला हाउस कोर्ट ने खिलाड़ियों के आरोपों की पुष्टि की थी। बीसीसीआई ने अनुशासनात्मक कार्यवाही के चलते श्रीसंत पर आजीवन बैन लगाया था।