भारतीय टीम के खिलाड़ी महेंद्र सिंह धोनी, सुरेश रैना और प्रवीण कुमार © Getty Images
भारतीय टीम के सीमित ओवरों के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी साथी खिलाड़ी सुरेश रैना और प्रवीण कुमार के साथ © Getty Images

लगातार चौथे रणजी सीजन में घटिया प्रदर्शन के बीच यूपी रणजी टीम में फिर जोरदार घमासान चल रहा है। सूत्रों के अनुसार, हैदराबाद में मध्य प्रदेश के खिलाफ पहले रणजी मैच के पूर्व कप्तान सुरेश रैना और प्रवीण कुमार का नए कोच मनोज प्रभाकर से जोरदार झगड़ा हुआ। इस कारण ही पहले मैच में प्रवीण को खिलाया नहीं गया और कप्तान रैना ने बैटिंग नहीं की।

नए सीजन की शुरुआत के पहले सुरेश रैना को टीम का कप्तान बनाया गया था। सूत्रों के अनुसार, हैदराबाद में मैच के पहले मीडियम पेसर प्रवीण कुमार बिना परमिशन होटल से बाहर गए थे। उनके साथ कप्तान रैना भी थे। लौटने पर नए कोच मनोज प्रभाकर ने इस पर कड़ी आपत्ति जताई। इस कारण पीके और रैना की प्रभाकर से खूब गर्मागर्मी के बाद बात गालीगलौज तक पहुंच गई। किसी तरह तीनों को शांत कराया गया।  भारत बनाम इंग्लैंड, पहला टेस्ट: लाइव ब्लॉग देखने के लिए क्लिक करें

मैच के प्लेइंग-11 में प्रवीण को जगह नहीं मिली। टीम की कमान रैना ने संभाली, लेकिन उन्होंने बैटिंग नहीं की। आधिकारिक तौर पर दावा किया गया कि रैना को वायरल फीवर है। मैच के बाद उत्तर प्रदेश क्रिकेट असोसिएशन (यूपीसीए) ने घायल बताकर प्रवीण को 4 मैचों के लिए टीम से बाहर कर दिया। हालांकि, अब तक उनकी फिटनेस की कोई जानकारी नहीं दी गई है। टीम में जबर्दस्त तनातनी है। सूत्रों का दावा है कि अब लगातार बुलाने के बावजूद प्रवीण टीम से नहीं जुड़े रहे हैं। वहीं, यूपीसीए प्रवक्ता अहमद अली खान तालिब ने कहा, ‘ऐसा कुछ नहीं है। टीम में असंतोष की बातें बेबुनियाद हैं।’