सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी (Syed Mushtaq Ali Trophy) के दूसरे सेमीफाइनल में कर्नाटक ने अरुण जेटली स्टेडियम में खेले गए मैच में विदर्भ को चार रनों से हरा दिया। रोहन कदम (56 गेंदों में 87 रन) और कप्तान मनीष पांडे (42 गेंदों में 54 रन) के अर्धशतकों के बाद कर्नाटक ने 20 ओवर में 176/7 रन बनाए थे।

लक्ष्य का पीछा करने उतरी विदर्भ अंतिम ओवर में 14 रन नहीं बना सका, जिसके कारण कर्नाटक फाइनल में जगह बना ली। अब सोमवार को फाइनल में तमिलनाडु और कर्नाटका का आमना-सामना होगा।

पहले बल्लेबाजी करने उतरे कर्नाटक के कदम और पांडे ने 132 रनों की साझेदारी की। कदम को शुरुआत में विकेटकीपर ने जीवनदान दिया था। जिसके बाद अन्य बल्लेबाजों ने तेज गति से रन जोड़ते हुए स्कोर को 180 रन के करीब पहुंचा दिया।

तेज गेंदबाज यश ठाकुर ने 19वें ओवर में करुण नायर को सिर्फ पांच रन पर आउट करते हुए केवल आठ रन दिए। वहीं, अंतिम ओवर में ऑलराउंडर दर्शन नालकांडे ने चार विकेट हासिल कर विदर्भ की मैच में वापसी करवा दी।

नालकांडे राजस्थान के लेग स्पिनर रवि बिश्नोई के बाद मौजूदा टूर्नामेंट में हैट्रिक लेने वाले दूसरे गेंदबाज बने और कर्नाटक के पूर्व तेज गेंदबाज अभिमन्यु मिथुन के बाद चार गेंदों में चार विकेट लेने वाले दूसरे भारतीय गेंदबाज बने।

जवाब में, अथर्व ताएदे ने 16 गेंदों में 32 रन की पारी खेली, जबकि उनके सलामी जोड़ीदार गणेश सतीश ने 27 गेंदों में 31 रन बनाए। इस तरह विदर्भ के बल्लेबाजों ने अच्छी शुरुआत की, लेकिन उनमें से कोई भी बल्लेबाज बड़ी पारी खेलने में नाकाम रहे।

कर्नाटक के स्पिनरों ने बेहतरीन गेंदबाजी की, जिससे टीम को मैच में फायदा मिला। अंतिम तीन ओवरों में विदर्भ को 42 की जरूरत थी। कर्नाटक ने 18वें और 19वें ओवर में 13 और 15 रन दिए। इसके बाद 20वें ओवर में विद्याधर पाटिल ने 14 रन का बचाव करते हुए कर्नाटक को फाइनल में जगह दिलाई।