पॉल स्टरलिंग © Getty Images
पॉल स्टरलिंग © Getty Images

क्रिकेट के सबसे छोटे फॉर्मेट टी10 क्रिकेट का शारजाह में आगाज हो गया है। इस लीग का पहला मैच केरल किंग्स और बंगाल टाइगर्स के बीच खेला गया जिसमें केरल किंग्स को 8 विकेट से जीत मिली। केरल किंग्स के कप्तान ऑयन मॉर्गन ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी चुनी और उनका फैसला सही साबित हुआ। बंगाल टाइगर्स के बल्लेबाजों के लिए फॉर्मेट नया था ऐसे में उन्हें ये समझ नहीं आया कि हिटिंग कब की जाए। बंगाल टाइगर्स के ओपनर आंद्रे फ्लेचर और जॉनसन चार्ल्स मैदान पर उतरे, दोनों उतनी तेजी से बल्लेबाजी नहीं कर सके जिसके लिए वो जाने जाते हैं।

चार्ल्स और फ्लेचर से उम्मीद थी कि ये दोनों बड़े शॉट खेलेंगे लेकिन ऐसा हुआ नहीं। चार्ल्स ने 27 गेंद में 33 रन बनाए और उनके बल्ले से सिर्फ 4 चौके और एक छक्का निकला। फ्लेचर और चार्ल्स के बीच 7.1 ओवर में 56 रनों की साझेदारी हुई। इसके बाद मिलर क्रीज पर आए और उन्होंने भी दो चौके और एक छक्का लगाकर 9 गेंद में 17 रन बनाए। फ्लेचर 24 गेंद में 32 ही रन बना सके और नतीजा ये हुआ कि बंगाल की टीम 10 ओवर में महज 86 रन ही बना सकी।

एम एस धोनी हैं रोहित शर्मा के 'गॉडफादर'!
एम एस धोनी हैं रोहित शर्मा के 'गॉडफादर'!

केरल किंग्स का जवाब

जवाब में केरल किंग्स की शुरुआत खराब रही। वॉल्टन शून्य पर आउट हुए लेकिन पॉल स्टरलिंग ने शानदार अर्धशतकीय पारी खेली। उन्होंने 23 गेंदों पर ताबड़तोड़ अर्धशतक लगाया। स्टरलिंग ने अपनी पारी में 3 छक्के 10 चौकों की मदद से 27 गेंद में नाबाद 66 रन बनाए। आपको बता दें स्टरलिंग ने तीनों छक्के द.अफ्रीका के तेज गेंदबाज डी लैंग की गेंदों पर लगातार लगाए। वैसे केरल किंग्स के कप्तान ऑयन मॉर्गन महज 11 रन बनाकर आउट हुए लेकिन इसके बावजूद उनकी टीम ने आसान जीत दर्ज की।