T20 leagues are a threat for international cricket: Faf du Plessis
फाफ डु प्लेसिस (BCCI)

दक्षिण अफ्रीकी दिग्गज फाफ डु प्लेसिस हाल में टी29 लीग को लेकर चौंकाने वाला बयान दिया है। डु प्लेसिस का कहना है कि टी20 लीग की बढ़ती लोकप्रियता और सफलता अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के लिए खतरा बन सकती है।

पाकिस्तान सुपर लीग में हिस्सा लेने पहुंचे डु प्लेसिस ने वर्चुअल प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कहा, “टी20 लीग अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के लिए खतरा हैं। लीग की ताकत साल-दर-साल बढ़ रही है और जाहिर है, शुरुआत में दुनिया भर में सिर्फ 2 लीग हो सकती हैं और अब ये एक साल में 4,5, 6,7 लीग बन रही है। लीग और मजबूत होती जा रही है।”

उन्होंने कहा, “मुझे लगता है कि ये महत्वपूर्ण है कि भविष्य में आप कोशिश करें और देखें कि ये दोनों (टी20 लीग और अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट) एक साथ कैसे आयोजित हो सकते हैं। क्योंकि अगर भविष्य में ये एक विकल्प बन जाता है तो अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खतरे में आ सकता है।”

विराट कोहली के साथ WTC फाइनल में टॉस के लिए जाना शानदार अनुभव होगा : विलियमसन

दाएं हाथ के बल्लेबाज ने कहा कि अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट का हश्र भविष्य में फुटबॉल जैसा ही हो सकता है, जहां घरेलू लीग बड़े पैमाने पर आयोजित होती हैं।

दक्षिण अफ्रीका के अनुभवी बल्लेबाज ने कहा, “ये एक बड़ी चुनौती है। हो सकता है कि 10 साल के समय में क्रिकेट लगभग फुटबॉल की तरह हो जाएगा, जहां आपके विश्व टूर्नामेंट दुनिया भर में हो रही लीग के बीच में आयोजित हों।”

डु प्लेसिस ने कहा, “अगर मैं अपने जैसे किसी खिलाड़ी की बात करूं तो आप दुनिया भर में 2 या 3 या 4 लीग खेल सकते हैं, लेकिन मैं भविष्यवाणी नहीं कर सकता। ज्यादा से ज्यादा खिलाड़ी हैं जो टी 20 लीग में खेलना चाहते हैं।”

उन्होंने आगे कहा, “वेस्टइंडीज शायद पहली टीम है जिसने ऐसा करना शुरू किया। उनके सभी खिलाड़ी अंतरराष्ट्रीय टीम से दूर टी20 घरेलू सर्किट में चले गए। इसलिए वेस्टइंडीज टीम ने अपने कई प्रमुख खिलाड़ियों को खो दिया। ये दक्षिण अफ्रीका के साथ भी होने लगा है।”