टी20 लीग से अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट पर संकट के बादल © PTI
टी20 लीग से अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट पर संकट के बादल © PTI

हाल ही में एमसीसी की बैठक में इंग्लैंड के पूर्व कप्तान ब्रेयरली और न्यूजीलैंड के पूर्व कप्तान ब्रेंडन मैक्कलम ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के भविष्य पर संकट बताया। दोनों का मानना है कि जल्द ही क्रिकेट का खेल उस स्तर पर पहुंच सकता है जहां उसे दुनियाभर की टी20 लीग से मुकाबला करना पड़ेगा। जिन देशों के पास अपने खिलाड़ियों को देने के लिए पैसे नहीं होंगे वो खिलाड़ी देश की बजाय टी20 लीग को तरजीह दे सकते हैं। एमसीसी ने ना सिर्फ टेस्ट, बल्कि इसे वनडे और टी20I के लिए भी बड़ा खतरा करार दिया।

ब्रेयरली ने एबी डीविलियर्स के इंग्लैंड में टेस्ट ना खेलने पर भी सवाल खड़े किए और दावा किया कि दुनिया का सबसे बेहतरीन क्रिकेटर ज्यादा क्रिकेट की वजह से टेस्ट से किनारा कर रहा है। साफ है डीविलियर्स का टेस्ट से दूर होना चिंता की बात है। वहीं मैक्कलम ने कहा, ”डीविलियर्स के टेस्ट ना खेलने के पीछे अलग कारण हो सकते हैं लेकिन ये टेस्ट क्रिकेट के लिए बिल्कुल अच्छे संकेत नहीं हैं। मेरा मानना है कि दुनियाभर में टी20 लीग आने के कारण अब खिलाड़ियों पर काफी दबाव आ गया है और उनके लिए टेस्ट खेलने पर फैसला लेना आसान नहीं रहा।”

आपको बता दें कि डीविलियर्स लगभग 18 महीनों से टेस्ट क्रिकेट से दूर हैं और इसके लिए उन्हें काफी आलोचनाओं का भी सामना करना पड़ रहा है। हाल ही में दक्षिण अफ्रीका के गेंदबाज फिलेंडर ने कहा था, ”डीविलियर्स क्या खेलना चाहते हैं ये उनके ऊपर है। हम उनके बिना भी खेलना सीख गए हैं। हमारा ध्यान किसी एक खिलाड़ी पर नहीं है। हमारी पूरी टीम पहले से ज्यादा मजबूत और बेहतर है।”