बीसीसीआई (BCCI) के एक अधिकारी ने हालिया बयान में पुष्टि की है कि अगर भारत कोविड -19 महामारी को नियंत्रण में लाने में असफल रहता है तो इस साल होने वाले टी20 विश्व कप की मेजबानी यूएई कर सकता है।

बता दें कि बीसीसीआई को 18 अक्टूबर से 15 नवंबर के बीच टी20 विश्व कप का आयोजन करना है। लेकिन भारत में फैली कोविड-19 की दूसरी तरह के भयावह परिणामों को देखने के बाद भारत में इस आईसीसी टूर्नामेंट का आयोजन होने की संभावनाएं कम दिख रही हैं।

बीबीसी को दिए इंटरव्यू में बीसीसीआई के गेम डेवलपमेंट जनरल मैनेजर धीरज मल्होत्रा ने कहा कि भारतीय क्रिकेट बोर्ड ने अभी विश्व कप आयोजन की उम्मीद खोई नहीं है।

शुक्रवार को दिए बयान में उन्होंने कहा, “मुझे अभी टूर्नामेंट के निदेशकों में से एक के पद पर चुना गया है, इसलिए मैं ये सुनिश्चित करने के लिए सब कुछ कर रहा हूं कि ये (भारत में) हो। हम सामान्य स्थिति, और सबसे खराब स्थिति दोनों को ध्यान में रखेंगे और उसी को आधार बनाकर हम इस समय हम आईसीसी से बात कर रहे हैं।”

लेकिन मल्होत्रा ने भी माना कि देश में आए इस संकट की वजह से टूर्नामेंट के आयोजन के लिए यूएई बेहतर वेन्यू साबित होगा। उन्होंने कहा, “ये यूएई होगा। हम फिर से उम्मीद कर रहे हैं कि ये बीसीसीआई द्वारा किया जाएगा। इसलिए, हम टूर्नामेंट को वहां ले जाएंगे, लेकिन ये अभी भी बीसीसीआई द्वारा तय किया जाएगा।”

बता दें कि कई पूर्व क्रिकेटरों और फैंस की आलोचना के बावजूद बीसीसीआई ने इंडियन प्रीमियर लीग के 14वें सीजन का आयोजन जारी रखा है जो कि भारत में खेला जा रहा है। हालांकि आठ टीमों के इस टूर्नामेंट के मुकाबले 16 टीमों से सजे विश्व कप टूर्नामेंट का आयोजन मौजूदा हालातों में करना बेहद मुश्किल होगा, ऐसे में बीसीसीआई यूएई का रुख कर सकता है।