t20 world cup icc will get written assurance form bcci regarding visa issue of our players says ehsan mani
भारत vs पाकिस्तान @Twitter

इस साल अक्टूबर और नवंबर के बीच भारत को ICC T20 वर्ल्ड कप की मेजबानी करनी है. पाकिस्तान को अभी से यह चिंता सता रही है कि भारत पाकिस्तान के खिलाड़ियों और सपॉर्ट स्टाफ को वीजा जारी नहीं करेगा. पीसीबी के अध्यक्ष अहसान मनि ने इस मुद्दे को ICC के समक्ष उठाया है. इसके बाद आईसीसी ने उन्हें आश्वासन दिया है कि वे मार्च के आखिरी तक सभी खिलाड़ियों, अधिकारियों, प्रशंसकों और पत्रकारों के लिए भारतीय क्रिकेट बोर्ड (BCCI) से वीजा जारी करने के संबंध में लिखित आश्वासन लेगा.

मनि ने एक मीडिया सम्मेलन में कहा, ‘मैंने बोर्ड को सूचित किया है कि बीसीसीआई को 31 दिसंबर तक हमें वीजा आश्वासन देना था, लेकिन ऐसा नहीं हुआ क्योंकि उनके अध्यक्ष सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) दो बार अस्पताल में भर्ती हुए थे.’ उन्होंने कहा, ‘मैंने फिर से इस मुद्दे को आईसीसी के समक्ष उठाया है और मैं उनके संपर्क में हूं. आईसीसी ने हमें बताया है कि हमें अगले महीने (मार्च) के अंत तक लिखित आश्वासन मिल जाएगा.’

पीसीबी प्रमुख ने कहा कि इस आश्वासन की मांग करना उनका अधिकार है और कोई भी पाकिस्तान को वर्ल्ड कप से बाहर नहीं रख सकता है. उन्होंने कहा, ‘हम या तो सभी नियमों के साथ टी20 वर्ल्ड कप के लिए जाएंगे या इसे किसी अन्य देश में ले जाना होगा.’

जब उनसे पूछा गया कि क्या इतनी देर से टी20 वर्ल्ड कप को किसी तटस्थ स्थान पर स्थानांतरित किया जा सकता है तो उन्होंने कहा कि पाकिस्तानी नागरिकों को वीजा के अलावा भी भारतीय बोर्ड के सामने कई और चुनौतियां है.

उन्होंने कहा, ‘आईसीसी प्रतियोगिताओं में कर-छूट और कोविड-19 (Covid- 19) का भी मुद्दा है. आईसीसी पहले ही एक आकस्मिक योजना तैयार कर चुका है और अगर जरूरत पड़ी तो टी20 वर्ल्ड कप को UAE स्थानांतरित किया जा सकता है.’

मनि ने यह भी कहा कि अगर भारत वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप (WTC) के फाइनल के लिए क्वॉलीफाई करता है तो इस साल तारीखों के टकराव के कारण एशिया कप (Asia Cup) का आयोजन करना असंभव होगा. उन्होंने कहा, टअभी की स्थिति को देख कर लग रहा है कि एशिया कप को संभवत: 2023 तक स्थगित करना होगा.’ विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप का फाइनल लॉर्ड्स में 18 से 22 जून तक खेला जाएगा.