© Getty Images
© Getty Images

सेंचुरियन टेस्ट के चौथे दिन का खेल जब शुरू हुआ था तो टीम इंडिया के तेज गेंदबाजों ने द.अफ्रीका को महज़ 130 रनों पर समेट दिया था और ऐसा लगने लगा था कि टीम इंडिया सेंचुरियन में ऐतिहासिक जीत दर्ज कर लेगी। मगर चौथे दिन टी ब्रेक होते-होते पूरा मैच ही पलट गया है। टीम इंडिया चाय तक 84 रनों पर 7 विकेट गंवा चुकी है और वो हार से महज 3 कदम दूर है। टीम इंडिया को जीत के लिए 208 रनों का छोटा लक्ष्य मिला था लेकिन सेंचुरियन की मुश्किल पिच ने इस चुनौती को भी असंभव बना दिया।

टीम इंडिया की बल्लेबाजी फ्लॉप

पहली पारी में फेल होने के बाद टीम इंडिया के टैलेंटेड बल्लेबाजों ने दूसरी पारी में भी पूरी तरह निराश किया। पहले विकेट के लिए शिखर धवन और मुरली विजय ने 30 रन जरूर जोड़े लेकिन इस दौरान भी ये दोनों बल्लेबाज कई बार बचे। आखिर में मॉर्ने मॉर्कल की गेंद पर शिखर धवन 16 रनों पर सरेंडर कर चले गए। इसके बाद मुरली विजय(13)और चेतेश्वर पुजारा(4) ने भी पैवेलियन लौटने में देर नहीं लगाई।

स्टीवन स्मिथ ने जो रूट की हिम्मत की जमकर तारीफ की
स्टीवन स्मिथ ने जो रूट की हिम्मत की जमकर तारीफ की

3 विकेट गिरने के बाद कप्तान विराट कोहली और रोहित शर्मा ने 34 रनों की साझेदारी की और ऐसा लगने लगा कि ये दोनों टीम इंडिया को जीत की ओर ले जाएंगे। लेकिन वेरनॉन फिलेंडर ने टीम इंडिया की उम्मीदों को तोड़ दिया। विराट कोहली 28 रन बनाकर फिलेंडर का शिकार हो गए। रोहित शर्मा भी 10 रन बनाकर आउट हो गए। पहली पारी में गजब की 93 रनों की पारी खेलने वाले हार्दिक पांड्या भी 1 रन पर निपट गए, नतीजा टीम इंडिया ने 6 विकेट सिर्फ 77 रन पर गंवा दिए। टी ब्रेक से ठीक एक गेंद पहले रबाडा की अंदर आती गेंद पर रिद्धिमान साहा का टिकट भी कट गया और अब टीम इंडिया हार से महज 3 कदम दूर है।