© Getty Images
© Getty Images

पूर्व सलामी बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग का मानना है कि दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ पहले टेस्ट मैच में 72 रन की हार के बाद भारतीय टीम की अब वापसी करने की संभावना ‘लगभग 30 प्रतिशत’ है। सहवाग ने इंडिया टीवी से कहा, ‘‘अभी तो ऐसा लग रहा है कि वापसी की संभावना केवल 30 प्रतिशत है। यहां से अब काफी कड़ा होने जा रहा है। भारतीय टीम मैनेजमेंट को ये भी देखना चाहिए कि सेंचुरियन की परिस्थितियों में क्या रविचंद्रन अश्विन की टीम में जगह बनती है या नहीं। ’’ सहवाग का कहना है कि भारत को 6 स्पेशलिस्ट बल्लेबाजों और चार गेंदबाजों के साथ उतरना चाहिए।

सहवाग ने कहा, ‘‘भारत अजिंक्य रहाणे के रूप में अतिरिक्त बल्लेबाज के साथ उतर सकता है। उन्हें चार विशेषज्ञ गेंदबाजों के साथ उतरने की कोशिश करनी चाहिए। अगर भारत जीतना चाहता है तो विराट और रोहित को अहम भूमिका निभानी होगी।’’ दक्षिण अफ्रीका के ब्लोमफोंटेन में अपने डेब्यू मैच में शतक जड़ने वाले सहवाग ने बल्लेबाजों को ऑफ स्टंप से बाहर की अधिकतर गेंदों को छोड़ने की सलाह दी।

सेंचुरियन में टीम इंडिया कर देगी 'सरेंडर', ये है बड़ी वजह!
सेंचुरियन में टीम इंडिया कर देगी 'सरेंडर', ये है बड़ी वजह!

उन्होंने कहा, ‘‘बल्लेबाजों को मेरी यही सलाह है कि वे आफ स्टंप से बाहर की गेंदों से छेड़खानी नहीं करें। जितना संभव हो सीधे बल्ले से खेले। आपके शाट स्ट्रेट ड्राइव या फ्लिक होने चाहिए। किसी की शॉर्ट पिच गेंद पर चोट सहने के लिये भी तैयार रहें। शार्ट पिच गेंदों को रोकने के बजाय उन्हें अपने शरीर पर झेलें। ’’ सहवाग ने कहा, ‘‘दक्षिण अफ्रीका में गेंद उछाल लेती है जिसका मतलब कि किसी बल्लेबाज के बोल्ड होने की संभावना कम है। इसलिए बल्लेबाजों को सकारात्मक सोच के साथ खेलना होगा और कम से कम तीन रन प्रति ओवर की दर से रन बनाने होंगे।’’